loader

जब अमिताभ बच्चन ट्रोलों पर ज़बरदस्त नाराज़ हुए, कहा- ठोक दो *** को

तार्किक बातें रखने और सवाल पूछने वालों पर टूट पड़ने वाले ट्रोलों को अमिताभ बच्चन ने तगड़ा जवाब दिया है। सोशल मीडिया पर काफ़ी संयमित और दोस्ताना पेश आने वाले अमिताभ बच्चन इससे पहले इतने ग़ुस्से में शायद कभी नहीं दीखे थे। वह इतना ज़्यादा ग़ुस्साए कि उन्होंने लिख दिया- 'ठोक दो *** को'। उनके ग़ुस्से को इससे भी समझा जा सकता है कि उन्होंने इस पर ब्लॉग लिख दिया। ट्रोल को उन्होंने राक्षसों से तुलना की और समाज पर एक कलंक बताया। कोरोना संक्रमण का इलाज करा रहे इस महानायक अमिताभ के लिए उस ट्रोल ने कोरोना से उनकी मौत की कामना कर डाली थी। 

ताज़ा ख़बरें

अमिताभ बच्चन और उनके बेटे अभिषेक की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद दोनों को मुंबई के नानावती अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके बाद उनकी बहू ऐश्वर्या और पोती आराध्या की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। हालाँकि ऐश्वर्या और आराध्या की रिपोर्ट अब निगेटिव आई है और दोनों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है, लेकिन अमिताभ और अभिषेक की रिपोर्ट अभी भी पॉजिटिव है। 

अमिताभ बच्चन ने ट्रोल की लाइन का ज़िक्र कर अपने ताज़ा ब्लॉग को लिखना शुरू किया। बच्चन ने लिखा, - "वे लोग मुझे लिखते हैं... 'मैं उम्मीद करता हूँ कि इस कोरोना से आप मर जाएँ'।"

बच्चन ने आगे लिखा, "अरे, मिस्टर अज्ञात... आप अपने पिता का नाम भी नहीं लिखते हैं, ... क्योंकि आप नहीं जानते कि आपको किसने जन्म दिया... केवल दो चीजें हैं जो हो सकती हैं... या तो मैं मर जाऊँगा या मैं ज़िंदा रहूँगा। अगर मैं मर जाऊँ तो आपको निंदा लिखने के लिए नहीं मिलेगा और किसी सेलिब्रिटी के नाम पर टिप्पणी लिखने का मौक़ा ख़त्म हो जाएगा।'

अमिताभ बच्चन ने लिखा कि यदि ईश्वर की कृपा से मैं बच जाता हूँ और जीवित रहता हूँ तो आपको केवल मुझसे ही नहीं, बल्कि बहुत रूढ़िवादी स्तर पर 90+ मिलियन फॉलोअर्स के तूफ़ान का सामना करना पड़ेगा। आगे उन्होंने लिखा कि मैं उनसे बस इतना ही कहना चाहूँगा... 'ठोक दे *** को'।

इसके बाद महानायक ने राक्षसों का ज़िक्र कर ट्रोल को समाज पर कलंक बताया। उन्होंने लिखा- 'मारीच, अहिरावन, महिषासुर, असुर उपनाम हो तुम; हमारा यज्ञ प्रारंभ होते ही तुम राक्षसों की तरह तड़पोगे, जान लो इतना कि अब तुम ही केवल समाज की आवाज़ न हो; चरित्रहीन, अविश्वासी, श्रद्धाहीन, लीचड़ तुम हो; जलो गलो पिघलो, बेशर्म, बेहया, निर्लज्ज, समाज कलंकी....

अपने ही आक्रोश में जल भूनो!'

सिनेमा से और ख़बरें
ट्रोलों को अमिताभ बच्चन के इस जवाब को इस संदर्भ में देखा जा सकता है कि हाल के कुछ वर्षों में जब से सोशल मीडिया पर राजनीतिक दलों की आईटी सेल सक्रिए हुई है, ट्रोलों द्वारा सोशल मीडिया पर गाली-गलौज करना आम बात हो गई है। सबसे ज़्यादा दिक्कत तो यह है कि उनकी बातों से सहमत नहीं होने वाले या फिर सवाल उठाने वाले लोगों को वे रेप और हत्या तक की धमकी दे देते हैं। तार्किकता से तो ट्रोलों को ज़बरदस्त नफ़रत है। लगता है कि तार्किक बातें ही उनका सबसे बड़ा दुश्मन है। लेकिन अमिताभ बच्चन ने जिस अंदाज़ में जवाब दिया है वो किसी ट्रोल के लिए एक सबक़ होना चाहिए। 

अपनी राय बतायें

सिनेमा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें