loader
रुझान / नतीजे

बिहार विधानसभा चुनाव 20200 / 243

एनडीए
0
महागठबंधन
0
अन्य
0

चुनाव में दिग्गज

एग्जिट पोल सही नहीं, पहले भी ग़लत साबित हुए हैं: बीजेपी

दिल्ली में शनिवार शाम को आये एग्जिट पोल्स ने बीजेपी को हिला दिया है। 22 साल से दिल्ली की सत्ता से दूर रही बीजेपी को इस बार पूरी उम्मीद है कि वह सरकार बनाएगी लेकिन एग्जिट पोल इसकी गवाही नहीं देते। सभी चैनलों के एग्जिट पोल में पूर्ण बहुमत से आम आदमी पार्टी की सरकार बनने की बात कही गई है। एग्जिट पोल आने के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार शाम को दिल्ली के सांसदों और वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई। 

ताज़ा ख़बरें
एनडीटीवी के मुताबिक़, बैठक के बाद नई दिल्ली से बीजेपी की सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा, ‘एग्जिट पोल्स की गणित सही नहीं है। जो आंकड़े जुटाये गये हैं, वे भी 4 या 5 बजे तक के हैं और इससे पहले भी एग्जिट पोल ग़लत साबित हुए हैं।’ लेखी ने इस बात को स्वीकार किया कि बैठक में एग्जिट पोल के नतीजों को लेकर चर्चा हुई है। लेखी ने कहा कि बीजेपी के मतदाता दिन में देर से घरों से निकले और उन्होंने शाम तक मतदान किया। जबकि अमित शाह अपनी लगभग सभी चुनावी जनसभाओं में लोगों से अपील करते थे कि वे सभी लोग 10 बजे तक अपना वोट डाल दें। ऐसे में लेखी की इस बात में बहुत ज़्यादा दम नहीं दिखाई देता। लेखी ने इस बात का भरोसा जताया कि बीजेपी दिल्ली में सरकार बनाएगी। 
बीजेपी ने शाह की अगुवाई में आक्रामक चुनाव लड़ा और नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ शाहीन बाग़ में चल रहे धरने को मुद्दा बनाया। बीजेपी के तमाम नेताओं के बयान शाहीन बाग़ के धरने और प्रदर्शनकारियों तक ही सिमटे रहे।

अमित शाह तमाम जनसभाओं में कहते रहे कि ईवीएम का बटन इतने ग़ुस्से में दबाएं कि बटन यहां दबे और करंट शाहीन बाग़ में लगे। बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने शाहीन बाग़ को तौहीन बाग़ कहा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केजरीवाल सरकार पर शाहीन बाग़ में बैठे प्रदर्शनकारियों को बिरयानी खिलाने का आरोप लगाया। इस तरह यह आंदोलन पार्टी नेताओं के निशाने पर रहा। 

आम आदमी पार्टी को 2015 के विधानसभा चुनाव में 67 सीटों पर जीत मिली थी और इस बार भी एग्जिट पोल दिल्ली में उसकी आंधी आने और बीजेपी के प्रदर्शन में मामूली सुधार होने का दावा कर रहे हैं।

इंडिया टुडे-एक्सिस माइ इंडिया के एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को 59-68, बीजेपी को 2-11 और कांग्रेस को 0 सीटें मिलने की बात कही गई है। इस एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को 56 फ़ीसदी, बीजेपी को 35 फ़ीसदी और कांग्रेस को 5 फ़ीसदी वोट मिलने की बात कही गई है। रिपब्लिक टीवी-जन की बात एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को 48 से 61, बीजेपी को 9 से 21 और कांग्रेस को 1 सीट मिलने की बात कही गई है। इसी तरह टीवी-9 सिसेरो के एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को 54 सीटें, बीजेपी को 15 और कांग्रेस को सिर्फ 1 सीट मिलने की बात कही गई है। एबीपी-सी वोटर के एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को 49 से 63 सीटें, बीजेपी को 5 से 19 और कांग्रेस को 0-4 सीटों पर जीत मिलने की बात कही गई है। 

दिल्ली से और खबरें

बीजेपी को लगेगा तगड़ा झटका 

अगर एग्जिट पोल सही साबित होते हैं तो यह बीजेपी के लिये बहुत बड़ा झटका साबित होगा क्योंकि पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद अमित शाह से लेकर राजनाथ सिंह, जेपी नड्डा और कई केंद्रीय मंत्री और सांसद दिल्ली की गलियों की खाक छानते रहे। पार्टी ने शाहीन बाग़ को मुद्दा बनाकर धार्मिक आधार पर ध्रुवीकरण की भी कोशिश की लेकिन एग्जिट पोल बताते हैं कि उसकी यह कोशिश कामयाब नहीं रही है। हालांकि पार्टी के नेता एग्जिट पोल को सही नहीं बता रहे हैं और ऐसे में सभी को 11 फ़रवरी का इंतजार है। 

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें