loader
रुझान / नतीजे

बिहार विधानसभा चुनाव 20200 / 243

एनडीए
0
महागठबंधन
0
अन्य
0

चुनाव में दिग्गज

सड़क पर भारतीय बच्चों की कलाबाज़ी की फै़न हुईं ओलंपिक चैंपियन जिम्नास्ट

सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफॉर्म बन गया है जो किसी को एक दिन में गुमनामी के अंधेरे से निकाल कर उसकी पहचान को विश्व पटल पर ला सकता है। ऐसा ही कुछ भारत के दो स्कूली बच्चों के साथ हुआ है। सोशल मीडिया पर भारत के दो बच्चों का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे बच्चे बहुत ही आसानी से जिम्नास्टिक के करतब करते हुए नज़र आ रहे हैं।

5 बार की ओलंपिक चैंपियन ने की तारीफ़

इस वीडियो को ट्विटर पर अब तक 5 लाख लोग देख चुके हैं। इस वीडियो को रोमानिया की 5 बार की ओलंपिक चैंपियन नादिया कोमानेची भी देख चुकी हैं। उनको ये वीडियो इतना पसंद आया कि उन्होंने इसको ट्वीट कर बच्चों की तारीफ़ भी की है। नादिया ने लिखा है कि ‘ये शानदार है’।
नादिया के ट्वीट के बाद लोगों ने बच्चों के वीडियो को पाँच बार की ओलंपिक चैंपियन द्वारा ट्वीट किए जाने पर ख़ूब तारीफ़ की है।

बच्चों से मिलना चाहते हैं खेल मंत्री

5 बार की ओलंपिक चैंपियन द्वारा बच्चों की वीडियो को ट्वीट किए जाने के बाद भारत के खेल मंत्री किरण रिजिजू ने इन दोनों बच्चों से मिलने की इच्छा व्यक्त की है। रिजीजू ने नादिया कोमानेची के वीडियो को रीट्वीट करते हुए लिखा कि

मुझे खुशी है कि नादिया कोमानेची ने इस वीडियो को ट्वीट किया है। वह पहली जिम्नास्ट, हैं जिन्होंने 1976 के मॉन्ट्रियल ओलंपिक में परफेक्ट 10.0 का स्कोर किया था और उनका इस वीडियो को ट्वीट करना बेहद ख़ास बात है। मैंने इन बच्चों से परिचय करने की इच्छा जताई है।'


खेल मंत्री, किरण रिजिजू

कौन हैं नादिया कोमानेची

नादिया कोमानेची रोमानिया की पूर्व जिम्नास्ट हैं। जो पाँच बार ओलंपिक स्वर्ण पदक जीत चुकी हैं। इसके साथ ही वह पहली जिम्नास्ट हैं जिन्होंने ओलंपिक खेलों में पर्फेक्ट 10 स्कोर किया था। नादिया ने उसी ओलंपिक(1976 मॉन्ट्रियल ओलंपिक)  में 3 और स्वर्ण जीतने के लिए 6 बार और परफेक्ट 10 स्कोर किया था। इसके बाद 1980 में मॉस्को में हुए समर ओलंपिक में नादिया ने 2 और स्वर्ण अपने नाम किए थे और इस ओलंपिक में भी उन्होंने 2 बार पर्फेक्ट 10 का स्कोर किया था।

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

खेल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें