loader

दिल्ली चुनाव के पहले बीजेपी ने की सौगातों की बौछार, ग़रीबों को 2 रुपये किलो आटा

मुफ़्त बिजली-पानी देने वाली अरविंद केजरीवाल सरकार की तीखी आलोचना करने वाली भारतीय जनता पार्टी ने लोकलुभावन घोषणाओं की बौछार कर दी है। दिल्ली विधानसभा के लिए जारी घोषणापत्र में बीजेपी ने एक के बाद एक मुफ़्त सौगातों का एलान कर लोकलुभावन राजनीति को नई ऊंचाइयाँ दी हैं। 

दिल्ली से और खबरें
बीजेपी ने संकल्प पत्र जारी करते हुए ये एलान किए हैं। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर, नितिन गडकरी और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी मौजूद थे।

बीजेपी घोषणापत्र की मुख्य बातें :

  • 9वीं कक्षा की छात्राओं को साइकिल 
  • ग़रीब विधवा को बेटी की शादी के लिए 51 हजार रुपये 
  • कॉलेज जाने वाली गरीब छात्राओं को इलेक्ट्रिक स्कूटी
  • दिल्ली में 200 नए स्कूल और 10 नए कॉलेज 
  • जिन लोगों को पहले सस्ता गेहूं मिलता था, उन्हें 2 रुपये प्रतिकिलो आटा
  • सीलिंग की समस्या को क़ानूनी रूप से सुलझाया जाएगा
  • 'हर घर नल' योजना से हम घरों में शुद्ध पानी, टैंकर से मुक्ति 
  • आयुष्मान भारत योजना दिल्ली में लागू की जाएगी
  •  नई कॉलोनियाँ बनाई जाएंगी। पुरानी 1,728 अनधिकृत कालोनियों को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। 
दिलचस्प बात यह है कि नितिन गडकरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कुछ चीजें मुफ़्त देने से दिल्ली की तसवीर नहीं बदलेगी। हम गाँव, मज़दूर, किसान का भविष्य बदलना चाहते हैं। लेकिन इसके साथ ही उन्होंने मुुफ़्त पाइप पानी और स्कूटी देने जैसे एलान भी कर दिए।
उन्होंने कहा, ‘आज तक जब-जब बीजेपी के नेताओं को अवसर मिला है, जब अटल जी की सरकार थी या आज मोदी जी की सरकार है, हमने हर बार दिल्ली की तकदीर, दिल्ली के भविष्य को बदलने का काम किया है।’
बीजेपी नेता गौतम गंभीर ने इसके पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर ज़ोरदार हमला करते हुए कहा था कि मुफ़्त की चीजें नहीं दी जानी चाहिए, क्योंकि इससे उसका महत्व ख़त्म हो जाता है।
उन्होंने यह भी कहा था कि मुफ़्तखोरी से राज्य की अर्थव्यवस्था कमज़ोर होगी और उसके दूरगामी नतीजे होंगे। लेकिन बीजेपी के दिल्ली प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा था कि आम आदमी पार्टी जो कुछ दे रही है, उनकी पार्टी उसका 5 गुणा देगी।
इस दावे का मजाक उड़ाया गया तो तिवारी ने कहा कि उनके कहने का अर्थ यह है कि वे केंद्र सरकार की योजनाओं को इस तरह लागू करेंगे कि दिल्ली के लोगों को 5 गुना फ़ायदा होगा।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें