loader

दिल्ली : एल-जी ने दिए कोरोना पर निर्देश, हाई अलर्ट पर अस्पताल

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन पर प्रधानमंत्री के उच्च स्तरीय बैठक के बाद दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली के मुख्य सचिव, पुलिस कमिश्नर और अन्य संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों को कई ज़रूरी निर्देश दिए हैं।

इसके साथ ही सोमवार को डीडीएमए की बैठक बुलाई गई है, जिसमें विशेषज्ञ और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

इसके अलावा दिल्ली के अस्पतालों को हाई अलर्ट पर रहने को कहा गया है। प्रशासन से कहा गया है कि सार्वजनिक स्थानों और समारोहों में कोविड प्रोटोकोल का सख्ती से पालन कराया जाए।

सोमवार को होने वाली बैठक में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों का आरटी-पीसीआर टेस्ट कराने को कहा जा सकता है। इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे और हांगकांग के यात्रियों को क्वारंटीन करने जैसे कदम उठाने पर फ़ैसला लिया जा सकता है।

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने क्या कहा?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसके पहले शनिवार को दिन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया था कि वे भारत में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट से प्रभावित देशों से उड़ानें बंद करें।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, "मैं माननीय पीएम से उन देशों से फ्लाइट बंद करने का आग्रह करता हूं जो नए वैरिएंट से प्रभावित हैं। बड़ी मुश्किल से हमारा देश कोरोना से उबर पाया है। हमें इस नए वैरिएंट को भारत में प्रवेश करने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए।"

क्या कहा मोदी ने?

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिन में हुई समीक्षा बैठक में कहा था कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले लोगों पर नज़र रखने की ज़रूरत है और उनके कोरोना टेस्ट भी किए जाने चाहिए।

उन्होंने यह भी कहा था कि जिन देशों से इस नए वैरिएंट के आने का ख़तरा है, वहाँ से आने वाले लोगों पर विशेष ध्यान दिया जाए। 

delhi LG order on corona virus  omicron  - Satya Hindi

क्या कहना है दक्षिण अफ्रीका का?

दक्षिण अफ्रीका की सरकार का कहना है कि शुरुआती जानकारी के मुताबिक़ यह नया वैरिएंट ज़्यादा संक्रामक है। लेकिन कई देशों की ओर से विमान सेवाओं पर प्रतिबंध लगाए जाने को उसने ग़लत बताया है। ब्रिटेन, जर्मनी, इजरायल और इटली ने भी दक्षिण अफ्रीका से आने वाली उड़ानों पर रोक लगा दी है। 

भारत में इसका कोई मामला अभी सामने नहीं आया है। लेकिन कुछ जगहों पर संक्रमण तेज़ी से फैला है। इनमें कर्नाटक के धारवाड़ में स्थित एसडीएम मेडिकल कॉलेज भी शामिल है। यहां एक फ्रेशर पार्टी हुई थी, जिसके बाद कॉलेज के स्टूडेंट और स्टाफ़ में से 182 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

इसी तरह देहरादून में 11 आईएफ़एस अफ़सर और छह अन्य लोग कोरोना से संक्रमित मिले हैं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें