loader

हरियाणा- निजी क्षेत्र में स्थानीय लोगों को मिलेगा 75% आरक्षण: दुष्यंत

हरियाणा सरकार निजी क्षेत्र में स्थानीय लोगों के लिए 75 फ़ीसदी आरक्षण करने की व्यवस्था करने जा रही है। राज्य के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हरियाणा के राज्यपाल ने राज्य के लोगों के लिए 50,000 प्रति माह तक के वेतन वाली निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण वाले बिल को मंजूरी दे दी है।

वैसे तो निजी क्षेत्र में स्थानीय लोगों के लिए आरक्षण की बात दुष्यंत चौटाला लंबे समय से करते रहे थे और पिछले साल ही राज्य की विधानसभा में विधेयक पारित कर दिया गया था, लेकिन इसके बाद इसमें कोई ज़्यादा प्रगति नहीं हुई थी। अब यह ख़बर तब आई है जब किसान आंदोलन को लेकर राज्य की बीजेपी-जेजेपी सरकार पर काफ़ी ज़्यादा दबाव है।

ताज़ा ख़बरें

कृषि क़ानूनों को लेकर किसान आंदोलन के बाद बीजेपी विधायकों और जेजेपी विधायकों पर भी किसानों का साथ देने का दबाव है। इनके बारे में भी कहा जा रहा है कि उन्हें डर है कि अगले चुनाव में उन्हें वोट नहीं मिलेंगे। उन्हें यह डर इसलिए भी है क्योंकि किसान आंदोलन ने गठबंधन सरकार के मंत्रियों और विधायकों के लिए गाँवों में सार्वजनिक बैठकें करना मुश्किल कर दिया। किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाए। यहाँ तक कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर की करनाल में किसान महापंचायत का ज़बरदस्त विरोध हुआ था और उनको अपना कार्यक्रम रद्द करना पड़ा था। तब बीजेपी-जेजेपी गठबंधन में खटपट की ख़बरें भी आई थीं। 

इसी बीच मुख्यमंत्री खट्टर और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा था कि सरकार पर कोई ख़तरा नहीं है और यह पाँच साल पूरा करेगी। तब वह अमित शाह और नरेंद्र मोदी से भी मिले थे। 

किसान आंदोलन के ऐसे ही दबाव के बीच बीजेपी-जेजेपी की हरियाणा सरकार द्वारा निजी क्षेत्रों में भी स्थानीय लोगों के लिए आरक्षण की ख़बर आई है।

दुष्यंत चौटाला ने कहा है, 'यह राज्य के युवाओं के लिए बहुत खुशी का दिन है... राज्य के युवाओं को अब निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण मिलेगा... उन्हें हर कंपनी, समाज और ट्रस्ट में आरक्षण मिलेगा।'

dushyant chautala says haryana to reserve 75% jobs in private sector for locals  - Satya Hindi

स्थानीय लोगों के लिए निजी क्षेत्र में आरक्षण दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी का मुख्य चुनावी वादा था। हालाँकि जेजेपी ने राज्य में कुल 90 सीटों में से 10 सीटें जीतने के बाद बीजेपी के साथ गठबंधन में राज्य में सरकार बनाई थी। चौटाला ने पिछले साल इस मामले में विधेयक पेश किया था।

हरियाणा से और ख़बरें

इस विधेयक में प्रावधान है कि निजी क्षेत्र की कंपनियों में हरियाणा के मूल निवासियों के लिए 50,000 प्रति माह तक के वेतन वाली नौकरियाँ 75 प्रतिशत आरक्षित रहेंगी। इसमें एक प्रावधान यह भी है कि यदि कंपनियों को उपयुक्त स्थानीय उम्मीदवार नहीं मिलते हैं तो ऐसे मामलों में वे बाहर से लोगों को नियुक्त कर सकती हैं। हालाँकि ऐसे मामलों में उन कंपनियों को सरकार को इस तरह के क़दम के बारे में जानकारी देनी होगी।

सरकार ने कंपनियों से पहले ही कह दिया था कि उन्हें प्रति माह 50,000 रुपये सैलरी पाने वाले कर्मचारियों का विवरण दर्ज करना होगा और क़ानून बनने के तीन माह के भीतर ऐसा नहीं करने पर दंडित किया जाएगा।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

हरियाणा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें