loader
दिल्ली के कनॉट प्लेस में स्थित रेस्तरां बर्कोज़।फ़ोटो क्रेडिट - https://magicpin.in/blog/

अनलॉक-1:महाराष्ट्र,तमिलनाडु में धार्मिक स्थल अभी भी बंद, कई राज्यों में मॉल, रेस्तरां खुले

केंद्र सरकार ने अनलॉक-1 के तहत 8 जून से लॉकडाउन के नियमों में ढील देने और कई तरह की गतिविधियों को शुरू करने का एलान किया था। आज से देश के कई राज्यों में धार्मिक स्थल, मॉल्स और रेस्तरां खुल गए हैं लेकिन महाराष्ट्र और तमिलनाडु में धार्मिक स्थल बंद हैं। लॉकडाउन के तहत दो महीने तक लगभग सभी जगहों पर पाबंदी रही। 

उत्तर प्रदेश के मथुरा में कोरोना संक्रमण को देखते हुए मंदिरों को बंद रखा गया है। लखनऊ में ईदगाह की मसजिद में पांच लोगों के समूह में नमाज़ पढ़ी गई। 

ताज़ा ख़बरें

दक्षिण के राज्यों में देखें तो आंध्र प्रदेश के तिरूमाला में स्थित भगवान वेंकटेश्वर का मंदिर खोल दिया गया है।  तेलंगाना में भी धार्मिक स्थल, मॉल्स और  रेस्तरां को खोल दिया गया है। श्रद्धालुओं से कहा गया है कि वे अपने हाथ और पांव साबुन से अच्छी तरह धोकर ही मंदिर के अंदर आएं। 

सोशल डिस्टेंसिंग की अपील

दिल्ली में कई मंदिर और गुरुद्वारों को खोल दिया गया है और यहां श्रद्धालु आने लगे हैं। कई जगहों पर प्लेकार्ड लगाए गए हैं, जिनमें सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की बात लिखी गई है। दिल्ली की जामा मसजिद में नमाज़ पढ़ने के लिए आने वाले सभी लोगों से कहा गया है कि वे अपनी दरी खुद लेकर आएं और एक-दूसरे से छह फ़ीट की दूरी बनाए रखें। 

मुंबई में बस सेवा चालू

कोरोना से सबसे ज़्यादा प्रभावित महाराष्ट्र में आज से धार्मिक स्थल, होटल और रेस्तरां को खोलने की अनुमित नहीं दी गई है। लेकिन प्राइवेट दफ़्तरों को खोल दिया गया है लेकिन वे 10 फ़ीसदी स्टाफ़ को ही ला सकेंगे। मुंबई की बस परिवहन सेवा को आज से चालू कर दिया गया है। इसमें 30 से ज़्यादा लोगों के बैठने पर प्रतिबंध है। 

देश से और ख़बरें

कोरोना से ख़ासे प्रभावित राज्य तमिलनाडु में भी धार्मिक स्थलों को बंद रखा गया है। राज्य में रेस्तरां खोल दिए गए हैं। इसके लिए राज्य सरकार ने ज़रूरी दिशा-निर्देश जारी किए हैं। राजस्थान में होटल, रेस्तरां, शॉपिंग मॉल्स खुल गए हैं। लेकिन सभी लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने के लिए कहा गया है। 

पश्चिम बंगाल में सभी सरकारी और प्राइवेट ऑफ़िस खुल गए हैं और इनमें 100 फ़ीसदी कर्मचारी आ सकेंगे। 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा था कि अनलॉक-1 के तहत आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने की इजाजत दी जाएगी लेकिन कंटेनमेंट ज़ोन में 30 जून तक प्रतिबंध जारी रहेंगे। अनलॉक-1 के दूसरे चरण में स्कूल, कॉलेजों, शिक्षण संस्थानों, कोचिंग इंस्टीट्यूट्स को राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों से बातचीत के बाद से खोला जाएगा। 

अंतराष्ट्रीय उड़ानों, मेट्रो, सिनेमा हॉल, जिम्नेजियम, स्विमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, एसेंबली हॉल और ऐसी ही दूसरी जगहों, सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक कार्यक्रमों पर पाबंदी जारी है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें