loader

पराग अग्रवाल के ट्विटर सीईओ बनने पर क्या कहा एलन मस्क ने?

पराग अग्रवाल के ट्विटर के सीईओ बनते ही एक बार फिर पूरी दुनिया में भारतीय आईटी पेशवरों की धूम मच गई है। सुंदर पिचाई और सत्या नडेला के गूगल और माइक्रोसॉफ़्ट के प्रमुख बनने के बाद भारतीयों के प्रति जो सम्मान व तारीफ की भावना बढ़ी थी, अब उस पर मानो मुहर लग गई है।

टेस्ला के प्रमुख एलन मस्क ने भारतीयों की तारीफ के पुल बाँधते हुए कहा कि भारतीय प्रतिभा से अमेरिका को बहुत फ़ायदा हुआ है। 

उनकी यह प्रतिक्रिया स्ट्राइप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पैट्रिक कॉलिसन के ट्वीट के जवाब में है।

कॉलिसन ने कहा था, 

गूगल, माइक्रोसॉफ़्ट, एडोबी, आईबीएम, पॉलो ऑल्टो नेटवर्क के बाद अब ट्विटर के सीईओ भारत में पले- बढ़े हैं। प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारतीयों की कामयाबी इस बात की भी याद दिलाती है कि किस तरह उन्हें अमेरिका ने अवसर दिया।


पैट्रिक कॉलिसन, सीईओ, स्ट्राइप

यानी, वे यह कहना चाहते हैं कि भारतीयों को कामयाबी इसलिए मिली है कि उन्हें अमेरिका ने मौका दिया। इस पर एलन मस्क ने उन्हे याद दिलाया है कि इन भारतीयों से अमेरिका को ही फ़ायदा हुआ है। 

क्या कहा जैक डोर्सी ने?

यह इसलिए भी अहम है कि ट्विटर के मालिक जैक डोर्सी ने पराग अग्रवाल की तारीफ की है। उन्होंने ट्वीट किया, "वे दिल और आत्मा के साथ आगे बढ़ते हैं और वह ऐसे व्यक्ति हैं जिनसे मैं रोजाना सीखता हूँ। हमारे सीईओ के रूप में उन पर मेरा भरोसा बहुत गहरा है।"

डोर्सी ने एक पत्र ट्वीट कर सवाल किया,  ''क़रीब 16 साल तक कंपनी में सह संस्थापक, सीईओ, चेयरमैन, कार्यकारी चेयरमैन, अंतरिम सीईओ, सीईओ आदि की भूमिकाएं निभाने के बाद मैंने तय किया है कि ये मेरे जाने का समय है। पर क्यों?''

tesla CEO alon musk bats for Indian IT professionals - Satya Hindi
जैक डोर्सी, ट्विटर के मालिक

पराग ही क्यों?

उन्होंने खुद ही इसका जवाब भी दिया, जिससे यह साफ होता है कि पराग अग्रवाल के कामकाज से वे कितने खुश हैं।

जैक ने ट्वीट किया, 'पहली ये कि पराग अग्रवाल अब सीईओ बन रहे हैं। हमारी कंपनी के बोर्ड ने सारे विकल्प खंगालने के बाद सर्वसम्मति से इसके लिए पराग को चुना है। वे कंपनी और इसकी ज़रूरतों को काफ़ी गहराई से समझते हैं, इसलिए वे काफ़ी समय से मेरी भी पसंद रहे हैं।''

ख़ास ख़बरें
डोर्सी ने यह भी कहा कि अग्रवाल डोर्सी ने बताया कि कंपनी के हर अहम फ़ैसले के पीछे पराग रहे हैं। वे क़ाफ़ी उत्सुक, खोजबीन करने वाले, तार्किक, रचनात्मक, महत्वाकांक्षी, जागरूक और विनम्र हैं।
बता दें कि इस समय दुनिया की छह सबसे बड़ी आईटी कंपनियों के प्रमुख भारतीय मूल के लोग हैं। ट्विटर के मुख्य सीईओ पराग अग्रवाल, गूगल के प्रमुख सुंदर पिचाई, माइक्रोसॉफ़्ट के मुखिया सत्या नडेला, आईबीएम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरविंद कृष्ण, अडोबी के प्रमुख शांतनु नारायण और डब्लूडब्लवेअर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रघु रघुराम हैं। इसके अलावा पॉलो ऑल्टो नेटवर्क के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निकेश अरोड़ा हैं। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

अर्थतंत्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें