loader
रुझान / नतीजे चुनाव 2022

दिल्ली नगर निगम चुनाव 2022 0 / 250

बीजेपी
0
आप
0
कांग्रेस
0
अन्य
0

टी सीरीज के मालिक भूषण कुमार के ख़िलाफ़ बलात्कार का मुक़दमा

कैसेट किंग गुलशन कुमार के बेटे और टी सीरीज कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर भूषण कुमार के ख़िलाफ़ एक 30 साल की महिला ने बलात्कार का केस दर्ज कराया है। महिला ने भूषण कुमार पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अपने होम प्रोडक्शन टी सीरीज के तले बनने वाली एक फ़िल्म में काम देने के नाम पर कई बार शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद पीड़ित महिला ने अपने आप को ठगा महसूस करने के बाद डीएन नगर पुलिस स्टेशन में भूषण के ख़िलाफ़ बलात्कार का मामला दर्ज कराया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

मुंबई पुलिस को दिए गए बयान में इस पीड़ित महिला ने बताया है कि भूषण कुमार से उनकी मुलाक़ात साल 2017 में हुई थी। इसी दौरान भूषण कुमार ने पीड़ित महिला को अपनी कंपनी टी-सीरीज की आने वाली कई फ़िल्मों के बारे में बताया। 

ताज़ा ख़बरें
भूषण कुमार ने इस पीड़ित महिला को भरोसा दिया कि वह उसे अपनी आने वाली फ़िल्मों में मौक़ा देगा। इस बीच साल 2017 से 2020 के बीच भूषण कुमार ने इस महिला के साथ कई बार शारीरिक संबंध बनाए। इस महिला ने पुलिस को यह भी अपने बयान में बताया है कि उसने साल 2017 से 2020 के बीच कई बार भूषण से काम देने की गुज़ारिश की लेकिन भूषण कुमार ने उसे कोई काम नहीं दिया। महिला ने आरोप लगाया है कि भूषण कुमार ने न केवल उसके साथ रेप किया है बल्कि उसको धोखा भी दिया है इसलिए पुलिस को उसके ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए।

पीड़ित महिला की शिकायत पर मुंबई के डीएन नगर पुलिस स्टेशन में भूषण कुमार के ख़िलाफ़ दुष्कर्म का केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 376, 420 और 506 के तहत मामला दर्ज किया है और मामले की जाँच में जुट गई है। 

पुलिस का कहना है कि उन्होंने पीड़ित महिला की शिकायत पर मामला दर्ज किया है। साथ ही पीड़िता के बयान के अनुसार पुलिस उन ठिकानों पर जाकर लोगों से पूछताछ कर रही है जहाँ पर भूषण कुमार ने इस पीड़ित महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाए थे।
‘सत्य हिंदी’ ने जब मुंबई पुलिस के प्रवक्ता से भूषण कुमार की गिरफ्तारी के बारे में सवाल पूछा तो उन्होंने कहा कि पहले वह मामले की छानबीन करेंगे उसके बाद ही इस मामले में कोई कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही पीड़िता ने ये भी आरोप लगाया है कि भूषण कुमार ने उनके साथ दुष्कर्म करने के दौरान उनकी फोटो और वीडियो भी बना लिए थे जिसके दम पर भूषण कुमार उनकी तस्वीरें और वीडियो को वायरल करने की धमकी दिया करते थे। पीड़िता का कहना है कि भूषण कुमार ने तीन साल तक उनका यौन शोषण किया है। इसके बाद अब उन्होंने भूषण की कारगुजारी के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज करवाई है। महिला का कहना है कि भूषण कुमार ने साल 2017 से 2020 तक उन्हें प्रताड़ित किया और उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाए।
महाराष्ट्र से और ख़बरें

‘सत्य हिंदी’ ने इस मामले में भूषण कुमार से भी उनका पक्ष जानना चाहा लेकिन उनकी तरफ़ से किसी भी तरह का कोई मैसेज या उनका बयान अभी तक सामने नहीं आया है। उनकी कंपनी टी-सीरीज की ओर से भी कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी भूषण कुमार पर इस तरह के आरोप लग चुके हैं। इससे पहले मी टू मूवमेंट के दौरान भी एक मॉडल ने भूषण कुमार पर यौन शोषण का आरोप लगाया था। इन्हीं आरोपों के बाद कई कंपनियों ने भूषण कुमार की कंपनी के साथ किये करार तोड़ लिए थे।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।
सोमदत्त शर्मा

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें