loader

दिल्ली नगर निगम चुनाव 2022 0 / 250

BJP
0
AAP
0
CONG
0
OTH
0

'बेकाबू' कोरोना को रोकने लिए महाराष्ट्र में 28 मार्च से रात का कर्फ्यू

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकार ने पूरे राज्य में रात के कर्फ्यू की घोषणा की है। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा है कि इस संबंध में एक अलग आदेश जल्द ही आपदा प्रबंधन और पुनर्वास विभाग द्वारा जारी किया जाएगा। इसके साथ ही मॉल को निर्देश दिया गया है कि वे रात आठ बजे से लेकर सुबह 7 बजे तक बंद रहेंगे। 

यह फ़ैसला तब लिया गया है जब राज्य में कोरोना संक्रमण अनियंत्रित हो गया है। राज्य कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में है और पहली लहर से कहीं ज़्यादा संक्रमण के मामले आ रहे हैं। 

ताज़ा ख़बरें

राज्य में शुक्रवार को 36 हज़ार 902 संक्रमण के मामले आए हैं। एक दिन पहले ही यानी गुरुवार को एक दिन में ही 35 हज़ार 952 संक्रमण के मामले आए। बुधवार को 31 हज़ार से ज़्यादा संक्रमण के मामले आए थे। मुंबई में गुरुवार को लगातार दूसरे दिन 5 हज़ार से ज़्यादा संक्रमण के मामले आए। राज्य में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर है और यह पहले से कहीं ज़्यादा तेज़ी से फैल रहा है। जब पहली लहर आई थी तो एक दिन में सबसे ज़्यादा संक्रमण के मामले पिछले साल 11 सितंबर को आए थे और तब 24 हज़ार 886 संक्रमण के मामले रिकॉर्ड किए गए थे। यानी इस बार अब तक ही डेढ़ गुना ज़्यादा मामले आ चुके हैं। 

इसके साथ ही यदि लोगों ने कोरोना सुरक्षा नियमों का पालन नहीं किया तो मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कड़े प्रतिबंधों की चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि ज़िला प्रमुख इस पर निर्णय लेंगे कि वे लॉकडाउन का आदेश कब देंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोई भी अचानक राज्यव्यापी लॉकडाउन नहीं किया जाएगा और यदि ऐसा होगा तो जनता को पहले सूचना दी जाएगी।

उद्धव ठाकरे ने अपने कार्यालय द्वारा जारी एक बयान में कहा, 'मैं लॉकडाउन लगाने के पक्ष में नहीं हूँ, लेकिन बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनज़र स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी पड़ने की आशंका है।' एक बयान में कहा गया है कि उन्होंने अधिकारियों से पर्याप्त अस्पताल के बिस्तर और दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा है।

महाराष्ट्र से और ख़बरें

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज ही वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से राज्य में कोरोना की की स्थिति की समीक्षा करने के लिए सभी संभागीय आयुक्तों, कलेक्टरों, एसपी और ज़िला अस्पतालों के वरिष्ठ डॉक्टरों की बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक के बाद ही कोरोना को लेकर सख्ती लागू करने का फ़ैसला लिया गया है। 

night curfew in maharashtra from 28 march amid coronavirus second wave - Satya Hindi

बता दें कि स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार सुबह ही गुरुवार को आए कोरोना संक्रमण के मामलों का आँकड़ा दिया है। इसमें कहा गया है कि एक दिन में 59,118 नए मामले दर्ज किए गए। इस दौरान 257 लोगों की मौत हुई है। यह आंकड़ा बीते 5 महीनों में सबसे ज़्यादा है। बीते दिन संक्रमण के 53,476 मामले सामने आए थे और 251 लोगों की मौत हुई थी। कोरोना के मामलों में जिस तरह का उछाल जारी है, उससे लोगों में जबरदस्त ख़ौफ़ पसर गया है।  

देश में अब तक 1,18,46,652 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और 1,60,949 लोगों की मौत हो चुकी है। देश भर में एक्टिव मामलों की संख्या 4,21,066 है। कोरोना के कई नए वैरिएंट सामने आ रहे हैं और इसके बाद से ही सरकार के साथ ही आम लोगों की चिंता बढ़ गई है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें