loader
मुज़फ़्फ़रनगर किसान महापंचायत के दौरान राकेश टिकैत। (फ़ाइल फ़ोटो)फ़ोटो साभार: ट्विटर/राकेश टिकैत

करनाल में किसान प्रदर्शन: हरियाणा के 5 ज़िलों में मोबाइल इंटरनेट बंद

करनाल में मंगलवार को किसानों के विरोध-प्रदर्शन के मद्देनज़र हरियाणा सरकार ने पाँच ज़िलों में मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया है। सरकार ने कहा है कि ऐसा किसानों के विरोध के मद्देनज़र क़ानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए किया गया है। इसके अलावा करनाल में भारी तादाद में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं। हालाँकि, पुलिस ने कहा है कि किसी भी क़ानून और व्यवस्था को बाधित करने के प्रयास को रोकने के लिए पर्याप्त सुरक्षा इंतज़ाम किए गए, लेकिन समझा जाता है कि किसानों के प्रदर्शन से सरकार की अपनी चिंताएँ हैं। प्रदर्शन करने वाले किसानों ने मंगलवार को करनाल में मिनी सचिवालय का घेराव करने का आह्वान किया है। 

सरकार के आदेश के अनुसार, करनाल, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद और पानीपत ज़िलों में मंगलवार रात 12:00 बजे से 24 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया गया है। इसके अलावा पुलिस ने वाहन चालकों को, खासकर नेशनल हाइवे-44 पर यात्रा करने वालों के लिए एक यातायात सलाह भी जारी की है और इसने रूट डायवर्जन किया है। 

ताज़ा ख़बरें

उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रनगर में सफल किसान महापंचायत से किसान नेता उत्साहित हैं। किसानों ने घोषणा की है कि वे देश भर में केंद्र सरकार के तीनों कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ विरोध तेज़ करेंगे। किसान यूनियन के नेता दर्शन पाल सिंह ने मुज़फ़्फ़रनगर में हुए किसान महापंचायत में भारत बंद का एलान करते हुए कहा कि कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ किसान आन्दोलन और तेज़ किया जाएगा।

किसान नेताओं ने तो मुज़फ़्फ़रनगर किसान महापंचायत में यह भी घोषणा की कि 27 सितंबर को भारत बंद कराएँगे और चुनावों में बीजेपी का विरोध करेंगे। किसान नेताओं ने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और अन्य विधानसभा चुनावों में बीजेपी का विरोध किया जाएगा। मुज़फ़्फ़रनगर के किसान महापंचायत में यह भी फ़ैसला किया गया कि गोरखपुर, लखनऊ, बनारस, कानपुर समेत यूपी के सभी मंडलों में महापंचायत आयोजित की जाएँगी। 

ऐसे उत्साह के बीच ही जब किसानों ने करनाल में मंगलवार को विरोध-प्रदर्शन की घोषणा की तो हरियाणा सरकार की चिंताएँ झलकने लगीं।करनाल में इतनी बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किए गए हैं कि शहर छावनी में तब्दील हो गया लगता है। पुलिस ने शांतिपूर्ण तरीक़े से प्रदर्शन की अपील की है।

इसके अलावा यातायात मार्ग को भी बदला गया है। 'द इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के अनुसार, एडीजीपी (क़ानून व्यवस्था) नवदीप विर्क ने कहा, 'मुख्य नेशनल हाइवे 44 (अंबाला-दिल्ली) पर करनाल ज़िले में कुछ यातायात बाधित हो सकता है। इसलिए एनएच 44 का उपयोग करने वाले आम जनता को सलाह दी जाती है कि वे करनाल शहर से यात्रा करने से बचें या अन्यथा अपने गंतव्य तक जाने के लिए वैकल्पिक मार्गों का उपयोग करें।' 

हरियाणा से और ख़बरें
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशों के अनुसार हरियाणा पुलिस भी किसानों से क़ानून व्यवस्था बनाए रखने और आम जनता को बाधित किए बिना शांतिपूर्ण तरीक़े से अपने मुद्दों को उठाने की अपील करती है। पुलिस ने कहा है कि क़ानून व्यवस्था को बिगाड़ने की कोशिश करने वालों के ख़िलाफ़ क़ानून के अनुसार कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

हरियाणा से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें