loader

क्या महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगेगा ? 

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों ने महाराष्ट्र सरकार के साथ-साथ केंद्र सरकार को भी चिंता में डाल दिया है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने यह साफ कर दिया है कि फिलहाल महाराष्ट्र सरकार ने लॉकडाउन लगाने पर कोई निर्णय नहीं किया है, लेकिन सरकार किसी भी कीमत पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेगी। राजेश टोपे का कहना है कि महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 9170 नए मामले सामने आए हैं। राजेश टोपे ने एक बार फिर से लोगों से बेवजह बाहर ना घूमने और भीड़भाड़ से बचने की अपील की है।

Will there be a lockdown in Maharashtra, as Omicron and covid 19 spreading - Satya Hindi

राजेश टोपे ने सत्य हिंदी से बातचीत में कहा कि महाराष्ट्र में लॉकडउन को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है। लॉकडाउन के बारे में फैसला महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राज्य की कोविड टास्क फोर्स के साथ बैठक के बाद लेंगे। राजेश टोपे का कहना है अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन के इस्तेमाल के बाद ही सरकार कोई बड़ा फैसला लेगी। इसके साथ ही टोपे ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पहले ही साफ कर चुके हैं कि जब भी महाराष्ट्र में ऑक्सीजन की जरूरत 700 मीट्रिक टन को पार करेगी तो राज्य में ऑटोमेटिक लॉकडाउन लगा दिया जाएगा।

ताजा ख़बरें

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने इसके साथ ही यह भी साफ कर दिया है कि वैसे तो महाराष्ट्र में 7 जनवरी तक धारा 144 लगाई गई है और इसके साथ शादी और धार्मिक समारोहों में लोगों को निर्धारित संख्या में शामिल होने का आदेश दिया गया है लेकिन इसके बाद भी अगर लोग कोरोना के नियमों और पाबंदियों की धज्जियां उड़ाते पाए जाते हैं तो फिर इसके अलावा और भी सख्त कदम उठाने पड़ सकते हैं। टोपे का कहना है कि बहुत जल्द महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे कोविड-19 टास्क फोर्स के साथ बैठक कर स्थिति का जायजा लेंगे और आगे की स्थिति के बारे में कोई फैसला लिया जाएगा। टोपे का कहना है - 

ओमिक्रॉन संक्रमण का पता लगाने के लिए राज्य में ज्यादा से ज्यादा लैव खोली जाएंगी जिससे संक्रमित हुए मरीजों का जल्दी से पता चल सके।


महाराष्ट्र कोविड टास्क फोर्स के प्रमुख संजय ओक का कहना है कि महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है और यह शुरुआती दौर में है। जैसे-जैसे समय आगे बढ़ेगा वैसे वैसे ही कोरोना के केसों में भी तेजी देखने को मिलेगी। संजय ओक का कहना है कि जनवरी के आखिर में कोरोना की तीसरी लहर महाराष्ट्र में पीक पर होगी। हालांकि संजय ओक का कहना है कि दूसरी लहर के मुकाबले फिलहाल लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की कम जरूरत पड़ रही है। इसके पीछे की वजह के बारे में संजय बताते हैं कि ज्यादातर लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली हैं जिसके चलते उनकी इम्यूनिटी मजबूत हो गई है। जिसके चलते कोरोना का यह डेल्टा वेरिएंट उन्हें ज्यादा नुकसान नहीं कर रहा है।

Choose... से और खबरें

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 9,170 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 1,445 लोग अस्पताल से डिस्चार्ज हुए हैं जबकि 7 लोगों की मौत भी कोरोना से हुई है। शनिवार को महाराष्ट्र में ओमिक्रॉन के 6 मामले दर्ज़ किए गए। अब तक राज्य में ओमिक्रॉन के कुल 460 मामले दर्ज़ हुए हैं। ओमिक्रॉन से पहली मौत भी महाराष्ट्र में दर्ज की गई थी।
मुंबई में पिछले 24 घंटे में 6,180 नये मामले सामने आए हैं जबक एक मरीज की मौत दर्ज की गई है। राज्य में अब तक कुल 1,41,533 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। इस बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि जनवरी के तीसरे सप्ताह तक राज्य में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले आ सकते हैं। राहत की बात यह है कि पिछले 24 घंटे में मुंबई में जो 6180 मामले सामने आए हैं उनमें से 5712 मरीजों में कोई सिम्टम्स नहीं देखने को मिले हैं इसका मतलब साफ है की ज्यादातर लोगों को अस्पताल में दाखिल होने की जरूरत नहीं पड़ रही है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

स्वास्थ्य से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें