loader
हमले में घायल पीड़ित। फ़ोटो साभार: ट्विटर/वीडियो ग्रैब

सिंघु बॉर्डर पर एक और हमला, निहंग समुदाय का एक सदस्य गिरफ़्तार

सिंघु बॉर्डर पर अब एक निहंग को पोल्ट्री फार्म के मज़दूर का पैर तोड़ने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है। पुलिस ने कहा है कि एक व्यक्ति को गुरुवार को एक चिकन विक्रेता के साथ कथित तौर पर मारपीट करने और उसका पैर तोड़ने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। आरोपी की पहचान करनाल के एक निहंग सिख नवीन के रूप में की गई है।

वैसे तो सिंघु बॉर्डर किसानों के विरोध-प्रदर्शन के लिए क़रीब साल भर से चर्चा में है, लेकिन हाल में यहाँ एक दलित लखबीर सिंह की हत्या पर हंगामा हुआ था। हत्या का आरोप कुछ निहंगों पर लगा। इस मामले में कई निहंगों ने आत्मसमर्पण किया था। आरोपियों ने दावा किया था कि लखबीर सिंह की हत्या इसलिए की गई क्योंकि उसने सिख पवित्र ग्रंथ को 'अपवित्र' किया था और बेअदबी की थी।

ताज़ा ख़बरें

ताज़ा घटना गुरुवार दोपहर की है। मनोज पासवान नाम का एक शख्स डिलीवरी के लिए कुछ मुर्गियों को ठेले पर ले जा रहा था। पुलिस ने कहा कि आरोपी ने चिकन विक्रेता से उसे मुफ़्त में चिकन देने के लिए कहा, और जब उसने ऐसा करने से मना कर दिया, तो बहस छिड़ गई।

सोशल मीडिया पर पासवान का एक वीडियो वायरल है। वीडियो में उनको यह कहते सुना जा सकता है कि वह एक पोल्ट्री फार्म से चिकन ले जा रहे थे, जब एक व्यक्ति ने उन्हें सिंघु बॉर्डर पर विरोध स्थल पर रोक दिया और मुफ्त में चिकन मांगा। उनका दावा है कि इनकार करने पर उन्हें कुल्हाड़ी की तरह दिखने वाले हथियार से पीटा गया था।

एक वीडियो में पासवान कहते हैं, 'मैंने उससे कहा कि मैं उसे चिकन नहीं दे सकता क्योंकि मुझे दुकानदारों और फार्म मालिक को जवाब देना होता है। मैं एक मज़दूर हूँ और अगर एक भी मुर्गी ग़ायब हो जाएगी तो मेरी नौकरी चली जाएगी।'

nihang member held for attack at singhu border  - Satya Hindi

एक वीडियो में उन्हें यह कहते भी सुना जा सकता है कि, 'अगर मुर्गियाँ कम पड़ गईं तो मुझ पर चोरी का आरोप लगाया जाएगा। मैंने उसे गिनती दिखाने के लिए अपनी जेब से एक पर्ची निकाली। पर्ची निकालते समय आरोपी ने मेरी जेब में बीड़ी देखी। उसने मुझ पर विरोध स्थल पर बीड़ी पीने का आरोप लगाया। मैंने उससे कहा कि मैंने साइट पर बीड़ी नहीं पी है। मैं इसे कहीं और पीया है। लेकिन उसने मुझे रॉड से मारना शुरू कर दिया।'

दिल्ली से और ख़बरें
'द इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के अनुसार, कुंडली थाने के एसएचओ रवि कुमार ने कहा, 'आरोपी ने पीड़ित को रॉड से मारा और उसका पैर तोड़ दिया। बाद में पीड़िता को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। मेडिकल रिपोर्ट का इंतज़ार है। आरोपी निहंग को गिरफ्तार कर प्राथमिकी दर्ज की गई है। उसे आज कोर्ट में पेश किया जाएगा।'
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें