loader

दिल्ली नगर निगम चुनाव 2022 0 / 250

BJP
0
AAP
0
CONG
0
OTH
0

केजरीवाल छोड़िए, ओवैसी भी हनुमान चालीसा पाठ करता दिखेगा: योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली चुनाव की एक रैली में फिर से विवादास्पद बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि एक दिन ओवैसी भी हनुमान चालीसा पाठ पढ़ता दिखेगा। योगी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के उस बयान पर पर निशाना साध रहे थे जिसमें वह एक इंटरव्यू में हनुमान चालीसा का पाठ करते दिखे थे और इसे अपने ट्विटर एकाउंट पर भी पोस्ट किया था। 

योगी ने कहा, 'अभी तो केजरीवाल जी ने हनुमाना चालीसा ही पढ़नी शुरू की है, आप देखना आगे आगे होता क्या है, ओवैसी भी एक दिन हनुमान चालीसा का पाठ पढ़ता दिखाई देगा।’ बता दें कि ओवैसी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन पार्टी के अध्यक्ष हैं और वह बीजेपी के ‘हिंदुत्व’ और ‘राष्ट्रवाद’ पर हमलावर रहे हैं। योगी और बीजेपी के नेता कई बार उनके ख़िलाफ़ आपत्तिजनक बयान दे चुके हैं।

ताज़ा ख़बरें
योगी आदित्यनाथ का यह बयान ऐसे समय में आया है जब वह अपने भाषणों में साम्प्रदायिक तौर पर ध्रुवीकरण की कोशिश में लगे हैं। वह पिछले तीन दिनों से दिल्ली में बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं और उनके हर भाषण में 'हिंदू-मुसलिम' वाला पुट देखने को मिल रहा है। इसकी शुरुआत तब हुई थी जब उन्होंने अपनी पहली चुनावी रैली में शाहीन बाग़ को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था। 

अपनी एक सभा में योगी ने यह भी कहा था कि हम आतंकवादियों को बिरयानी नहीं खिलाते, गोली खिलाएते हैं। काँवड़ियों की चर्चा करते हुए उन्होंने धमकी भरी भाषा में कहा था कि काँवड़ियों का विरोध करने वालों पर बोली नहीं, गोली से जवाब दिया जाएगा।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी के प्रचार में शनिवार को करावल नगर में आयोजित चुनावी जनसभा में योगी ने आरोप लगाया था कि जो लोग कश्मीर में आतंकवादियों का समर्थन करते हैं, वे लोग शाहीन बाग़ में धरना दे रहे हैं और आज़ादी के नारे लगा रहे हैं। योगी ने नागरिकता क़ानून के विरोध में प्रदर्शन करने वालों पर हमला बोला और कहा था कि इनके पूर्वजों ने ही भारत का विभाजन किया था। योगी ने कहा, ‘आज आतंकवादियों को बिरयानी नहीं खिलाई जा रही है, ये बिरयानी खिलाने का शौक या तो कश्मीर के अंदर कांग्रेस को था या शाहीन बाग़ जैसी घटना में केजरीवाल को है, बीजेपी को नहीं है।’ बता दें कि नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में शाहीन बाग़ में 50 दिन से धरना चल रहा है।

दिल्ली से और ख़बरें

इस पर आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग से माँग की थी कि योगी आदित्यनाथ के चुनाव प्रचार करने पर पूरी तरह तत्काल रोक लगाई जाये। पार्टी की ओर से भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगाते हुए योगी के ख़िलाफ़ एफ़आईआर भी दर्ज करने की मांग की गई थी।

‘आप’ के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने रविवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर कहा था कि दिल्ली में माहौल बिगाड़ने के लिये लगातार भड़काऊ बयान दिये जा रहे हैं, हमने इसकी जानकारी देने के लिये चुनाव आयोग से समय मांगा था लेकिन हमें समय नहीं दिया गया है।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें