loader

नगालैंड फ़ायरिंग के ख़िलाफ़ रैली, गृह मंत्री से बयान वापस लेने, माफ़ी माँगने को कहा

नगालैंड फ़ायरिंग के ख़िलाफ़ राजधानी कोहिमा में शनिवार को एक बड़ी रैली निकाली गई, जिसमें सैकड़ों लोगों ने शिरकत की। इस रैली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर झूठ बोलने और मनगढंत बातें कहने का आरोप लगाते हुए उनसे इसके लिए माफ़ी माँगने को कहा गया। 

याद दिला दें कि नगालैंड के मोन ज़िले के ओटिंग गाँव में 4 दिसंबर को केंद्रीय सुरक्षा बलों ने एक ट्रैक्टर ट्रॉली में जा रहे लोगों पर गोलियाँ चला दीं। इसमें छह लोग मारे गए। 

इससे उत्तेजित स्थानीय लोगों ने सुरक्षा बलों के लोगों को घेर लिया। इसके बाद सुरक्षा बल ने उन्हें वहां से हटाने के लिए फिर गोलियाँ चलाईं। इसमें आठ लोग मारे गए। एक सुरक्षा कर्मी भी मारा गया। 

शनिवार की रैली इस फ़ायरिंग व नगालैंड हिंसा के ख़िलाफ़ थी। 

इस रैली में गृह मंत्री का पुतला जलाया गया और आर्म्ड फ़ोर्सेज़ स्पेशल पॉवर्स एक्ट (अफ़्सपा) 1958 को रद्द करने की माँग की गई। इसके साथ ही यह माँग भी की गई कि अमित शाह संसद में दिए गए बयान को वापस लें और माफ़ी मांगे।

ख़ास ख़बरें

'सहानुभूति नहीं चाहिए'

इस रैली का आयोजन स्थानीय क़बीलों के संगठन कोन्याक यूनियन ने किया था। इसमें ओटिंग गाँव के लोग भी मौजूद थे, जहाँ फ़ायरिंग हुई थी। 

कोन्याक यूनियन के उपाध्यक्ष होनांग कोन्याक ने कहा, 

हमें सहानुभूति नहीं चाहिए, हमें न्याय चाहिए। तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर पेश करना दुर्भाग्यपूर्ण है। संसद में अमित शाह का बयान उलझन पैदा करने वाला था, इसमें ग़लत जानकारी दी गई थी।


होनांग कोन्याक. उपाध्यक्ष, कोन्याक यूनियन

उन्होंने इसके आगे कहा, "अमित शाह को अपना बयान तुरन्त वापस लेना चाहिए और माफ़ी माँगनी चाहिए।"

क्या कहा था गृह मंत्री ने?

गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में दिए गए बयान में कहा था, “4 दिसंबर की शाम को 21 पैरा कमांडो का एक दस्ता संदिग्ध क्षेत्र में तैनात था। इस दौरान एक वाहन उस जगह पहुंचा, इस वाहन को रुकने का इशारा किया गया। लेकिन यह वाहन रुकने के बजाय तेज़ी से निकल गया। इस आशंका पर कि वाहन में संदिग्ध विद्रोही जा रहे थे, वाहन पर गोली चलाई गई जिससे वाहन में सवार 8 में से 6 लोगों की मौत हो गई, बाद में यह ग़लत पहचान का मामला पाया गया, जो 2 लोग घायल हुए थे, उन्हें सेना ने स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया।”

kohima rally against nagaland firing, AFSPA - Satya Hindi
कोहिमा में रैली

कोन्याक यूनियन की चेतावनी

नगा संगठनों और दूसरे लोगों ने सरकार के इस बयान को खारिज कर दिया है।

कोन्याक ने यह भी चेतावनी दी कि जब तक नगालैंड फ़ायरिंग में मारे गए लोगों को न्याय नहीं मिलेगा, लोग चुप नहीं बैठेंगे। 

उन्होंने यह भी कहा कि 'हमने जो पाँच माँगें पहले की थीं, उन्हें तुरन्त पूरा किया जाना चाहिए।'

इन मांगों में अफ़्सपा को रद्द करना, फ़ायरिंग की स्वतंत्र व निष्पक्ष जाँच कराना, जाँच कमेटी में नगा सिविल सोसाइटी के लोगों को शामिल करना और दोषियों को सज़ा देना शामिल है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें