loader

ममता का बड़ा हमला, बोलीं- कांग्रेस की वजह से मज़बूत हो रहे मोदी 

कांग्रेस के ख़िलाफ़ लगातार हमलावर रूख़ अपना रहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर उसे निशाने पर लिया है। तीन दिन के गोवा दौरे पर पहुंचीं ममता ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिर्फ़ इसलिए ताक़तवर होते जा रहे हैं क्योंकि कांग्रेस राजनीति को लेकर गंभीर नहीं है। 

गोवा में टीएमसी के एक कार्यक्रम में मौजूद कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए ममता ने कहा कि कांग्रेस फ़ैसले नहीं ले पा रही है और इसका खामियाजा देश भुगत रहा है। 

ताज़ा ख़बरें

टीएमसी के विस्तार पर नज़र

ममता बनर्जी का पूरा ध्यान इन दिनों बंगाल से बाहर टीएमसी का विस्तार करने में है। टीएमसी गोवा के चुनाव मैदान में उतर रही है। कुछ महीने पहले दिल्ली आकर सोनिया व राहुल गांधी से मिलकर एंटी बीजेपी फ्रंट बनाने की बात कहने वालीं ममता दीदी इन दिनों कांग्रेस को ही निशाने पर ले रही हैं। 

TMC in Goa election 2022 Mamata Banerjee attacks Congress - Satya Hindi

ममता ने कहा कि बीजेपी के ख़िलाफ़ लड़ने के बजाए कांग्रेस ने मेरे राज्य में मेरे ही ख़िलाफ़ चुनाव लड़ा। उन्होंने कहा कि वह चाहती हैं कि क्षेत्रीय पार्टियां मज़बूत हों और भारत का संघीय ढांचा भी मज़बूत हो। 

गोवा में चार महीने के भीतर विधानसभा के चुनाव होने हैं। इस छोटे से राज्य में हालांकि टीएमसी का कोई आधार नहीं है लेकिन ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल से बाहर गोवा के अलावा त्रिपुरा, असम और उत्तर प्रदेश में भी चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। 

TMC in Goa election 2022 Mamata Banerjee attacks Congress - Satya Hindi

प्रशांत किशोर का हमला

पश्चिम बंगाल के चुनाव में ममता के लिए काम करने वाले चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर उर्फ पीके ने भी कुछ दिन पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोला था। पीके ने कहा था, “बीजेपी कई दशकों तक कहीं नहीं जाने वाली और यहीं पर शायद राहुल गांधी के साथ परेशानी है कि वह यह सोचते हैं कि यह बस वक़्त भर की बात है और कुछ समय बाद लोग प्रधानमंत्री मोदी को हटा देंगे। लेकिन ऐसा नहीं होने जा रहा है।” 

कांग्रेस नेताओं को तोड़ रहीं ममता 

ममता लगातार कांग्रेस के नेताओं को तोड़ रही हैं। गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री लुईजिन्हो फलेरो के अलावा महिला कांग्रेस की अध्यक्ष रहीं सुष्मिता देव और उत्तर प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष रहे ललितेश पति त्रिपाठी भी कांग्रेस छोड़कर टीएमसी में शामिल हो गए हैं। इस तरह की ख़बरें भी आम हैं कि कांग्रेस नेताओं के पार्टी छोड़कर टीएमसी में जाने में प्रशांत किशोर का हाथ है। 

कांग्रेस ने कहा है कि टीएमसी इस बात पर आत्ममंथन करे कि वह गोवा में चुनाव लड़कर बीजेपी को ही मज़बूत कर रही है। कांग्रेस ने तंज कसा है कि चुनाव कोई पर्यटन या सैर-सपाटा नहीं है।

कमज़ोर होगी विपक्षी एकता 

ऐसा भी नहीं है कि ममता गोवा में चुनाव लड़कर कोई करिश्मा कर देंगी। वहां मुश्किल से दो-चार सीटें भी जीतना उनके लिए मुश्किल होगा लेकिन एक बात तय है कि जिन राज्यों में कांग्रेस बीजेपी के सीधे मुक़ाबले में है, उन राज्यों के चुनाव में उतरकर वह कांग्रेस के साथ ही विपक्षी एकता को भी कमज़ोर कर रही हैं। 

राजनीति से और ख़बरें

कांग्रेस को पीछे धकेलने की ख़्वाहिश 

ममता बनर्जी की ख़्वाहिश 2024 के आम चुनाव तक टीएमसी को कांग्रेस की जगह पर मुख्य विपक्षी दल बनाने की है और इसके लिए वह जी-जान से जुटी हुई हैं। लेकिन ऐसा करना लगभग असंभव होगा क्योंकि कांग्रेस भले ही गई-गुजरी हालत में हो लेकिन उसके पास देश भर में संगठन है। 

कांग्रेस के नेताओं को टीएमसी में शामिल कर और कांग्रेस पर ही हमला कर, ममता बनर्जी निश्चित रूप से विपक्षी एकता को कमज़ोर कर रही हैं और इसका भरपूर फ़ायदा बीजेपी को मिलेगा। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

राजनीति से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें