loader

राजस्थान : सभी मंत्रियों ने सौंपा इस्तीफ़ा, आज नए मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण

राजस्थान सरकार में बड़े पैमाने पर फेरबदल किया जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी मंत्रियों से इस्तीफ़े ले लिए हैं। नए मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह आज यानी रविवार को हो सकता है। राजस्थान में फ़िलहाल 21 मंत्री हैं, संविधान के प्रावधानों के अनुसार और 9 को मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है। 

'एनडीटीवी' के अनुसार, गहलोत के विरोधी खेमे के छह लोगों को मंत्री बनाया जा सकता है और सचिन पायलट को राज्य के बाहर कांग्रेस संगठन में बड़ी ज़िम्मेदारी दी जा सकती है। 

बीएसपी भी सरकार में?

इसके अलावा मुख्यमंत्री बहुजन समाज पार्टी के कुछ विधायकों को भी सरकार में शामिल कर सकते हैं, क्योंकि इस पार्टी के कांग्रेस में विलय के बाद 200 सदस्यों के विधानसभा में उसके पास बहुमत हो गया था। 

ख़ास ख़बरें
शनिवार को राजस्थान के मंत्रिपरिषद की बैठक जयपुर में अशोक गहलोत के घर पर हुई, जिसमें सभी मंत्रियों से इस्तीफे ले लिए गए। समझा जाता है कि रविवार को नए मंत्रिमंडल के एलान के पहले राजस्थान कांग्रेस की बैठक होगी। 
reshuffle in rajasthan govt imminent,ashok gehlot may include sachin pilot supporters  - Satya Hindi
सचिन पायलट, नेता, राजस्थान कांग्रेस

इस्तीफ़े की पुष्टि

पूर्व परिवहन मंत्री प्रताप सिंह कचरियावास ने इसकी जानकारी देते हुए पत्रकारों से कहा,  ''सभी मंत्रियों ने मुख्यमंत्री को इस्तीफ़ा सौंप दिया है। यह एक प्रक्रिया है। रविवार की दोपहर पीसीसी की बैठक है, सब जाएंगे।'' 

पिछले हफ़्ते दिल्ली में कांग्रेस नेता सचिन पायलट और केंद्रीय नेतृत्व के बीच कई दौर की बैठकों के साथ ही कैबिनेट फेरबदल की उल्टी गिनती शुरू हो गई थी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी सहित पार्टी नेताओं से भी मुलाकात की थी। वे भारी दबाव के बीच मंत्रिमंडल में फेरबदल करने और सचिन पायलट खेमे के लोगों को शामिल करने पर राजी हो गए थे। 

गहलोत के तीन क़रीबी बाहर

अशोक गहलोत के तीन करीबी मंत्रियों को पहले ही पार्टी में ज़िम्मेदारी दी जा चुकी है। उनका सरकार से हटना तय है। 

राजस्व मंत्री और बाड़मेर से विधायक हरीश चौधरी को पंजाब का पार्टी प्रभारी बनाया गया है।  

अजमेर के केकड़ी से विधायक रघु शर्मा को गुजरात का पार्टी प्रभारी बनाया गया है।

राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को सचिन पायलट की जगह प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के 'एक पद एक व्यक्ति' के अनुशासन के अनुरूप मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

बीते दिनों दोनों गुटों के बीच समझौते का एक फ़ॉर्मूला यह निकाला गया था कि सचिन पायलट के तीन-चार विश्वस्तों को मंत्रिमंडल में शामिल कर लिया जाए और कुछ दूसरे विधायकों को अलग-अलग बोर्ड वगैरह सरकारी निकायों में लगा दिया जाए। इससे मुख्यमंत्री भी खुश रहेंगे और असंतुष्टों की शिकायत भी दूर हो जाएगी। 

उसके पहले कांग्रेस नेताओं के साथ गहलोत की यह बैठक तीन घंटे तक चली थी। इस दौरान राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन और महासचिव (संगठन) के. सी. वेणुगोपाल भी मौजूद थे। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

राजस्थान से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें