loader

दिल्ली में प्रदूषण- बीजेपी ने जानबूझकर पटाखे जलवाए: आप मंत्री

दिल्ली में प्रतिबंध के बाजवूद पटाखे फोड़े जाने के लिए आम आदमी पार्टी के मंत्री गोपाल राय ने बीजेपी को ज़िम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा है कि 'बड़ी संख्या में लोगों ने पटाखे नहीं जलाए, लेकिन कुछ लोगों ने एक उद्देश्य से पटाखे जलाए और ऐसा बीजेपी ने कराया'। उन्होंने साफ़ तौर पर बीजेपी पर पटाखे जलाने के लिए उकसाने का आरोप लगाया।

दीपावाली के एक दिन बाद शुक्रवार को दिल्ली के कुछ हिस्सों में हवा की गुणवत्ता यानी एक्यूआई ख़राब होकर 'ख़तरनाक' श्रेणी में आ गई। शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में धुंध की चादर छाई रही। अधिकांश क्षेत्रों में एक्यूआई 451 के आसपास बना रहा।

ताज़ा ख़बरें

201 से 300 के बीच एक्यूआई को ‘ख़राब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत ख़राब’ और 401 और 500 के बीच होने पर उसे ‘गंभीर’ माना जाता है। एक्यूआई हवा में मौजूद 'पीएम 2.5', 'पीएम 10', सल्फ़र डाई ऑक्साइड और अन्य प्रदूषण के कणों का पता चलता है। पीएम यानी पर्टिकुलेट मैटर वातावरण में मौजूद बहुत छोटे कण होते हैं जिन्हें आप साधारण आँखों से नहीं देख सकते।  

जनपथ में हवा की गुणवत्ता शुक्रवार तड़के ख़तरनाक श्रेणी में दर्ज की गई, जहाँ पीएम 2.5 की मात्रा 655.07 थी। राष्ट्रीय राजधानी में कई लोगों ने गले में जलन और आँखों में पानी आने की शिकायत की।

सरकार के प्रतिबंध की पूरी तरह से अवहेलना करते हुए दिल्ली में कई स्थानों पर दीपावली पर पटाखे फोड़े गए। प्रदूषण में पराली जलाने का भी व्यापक असर रहा। पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान एजेंसी SAFAR के अनुसार, दिल्ली के शुक्रवार के पीएम2.5 के स्तर में पराली जलाने का हिस्सा 36 प्रतिशत रहा, जो इस मौसम में सबसे अधिक है।

aap minister gopal rai alleges bjp of instigating firecrackers on diwali - Satya Hindi

दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने भी कहा, 'दिल्ली में पिछले 5 वर्षों की तुलना में इस साल अक्टूबर में सबसे कम प्रदूषण स्तर दर्ज किया गया। लेकिन पिछले 3 दिनों से पटाखों के फटने और पराली जलाने के कारण प्रदूषण का स्तर बढ़ रहा है। हालाँकि, यह पिछले वर्षों की तुलना में कम है।'

उन्होंने शहर में भीषण वायु प्रदूषण के लिए 3,500 पराली जलाने के मामले को भी ज़िम्मेदार ठहराया। 

दिल्ली से और ख़बरें

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार, रात 8 बजे तक आनंद विहार स्टेशन पर पीएम 2.5 का स्तर 466 था। बुराड़ी क्रॉसिंग (हरियाणा सीमा) पर यह 500 था। चंडी चौक पर यह 358 था, मंदिर मार्ग पर यह 466 था। रात 10 बजे तक यह इन जगहों पर 500 पहुँच गया था।

बता दें कि पिछले साल दीपावली के एक दिन बाद यानी 15 नवंबर को हवा की गुणवत्ता यानी एक्यूआई आईटीओ पर 461 और आनंद विहार में 461 दर्ज की गई थी। इससे पहले दीपावली के दिन शहर में एक्यूआई 414 दर्ज की गई थी।
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

दिल्ली से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें