loader

कोरोना: दिल्ली में 7,437, मुंबई में 8,938 नए मामले

कोरोना के संक्रमण से कराह रही दिल्ली पर इसकी मार कम होने का नाम नहीं ले रही है। बीते 24 घंटों में संक्रमण के मामलों में जबरदस्त उछाल आया और यह आंकड़ा 7,437 तक जा पहुंचा। इस दौरान 24 लोगों की मौत भी हुई है। बीते दिन संक्रमण के 5506 मामले आए थे और एक ही दिन में 1800 से ज़्यादा मामले बढ़ गए। इसका मतलब आने वाले दिन बेहद मुश्किलों भरे साबित हो सकते हैं। 

दिल्ली सरकार के मुताबिक़, राजधानी में अभी 23,181 एक्टिव मामले हैं। बीते 24 घंटों में दिल्ली में 91,770 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना के नए वैरिएंट और लोगों की लापरवाही के कारण संक्रमण के मामले तेज़ रफ़्तार से बढ़ रहे हैं। 

ताज़ा ख़बरें

दिल्ली छोड़कर जा रहे मजदूर 

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने नाइट कर्फ्यू लगा दिया है। ऐसे में छोटे-मोटे काम करने वाले लोग लॉकडाउन की आशंका से डरे हुए हैं और वे दिल्ली छोड़ रहे हैं। दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल से प्रवासी मजदूरों की तसवीरें सामने आई हैं। दिल्ली में बीते कुछ दिनों से संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। 

एएनआई के मुताबिक़, ट्रेन पकड़ने के लिए आनंद विहार टर्मिनल पहुंचे प्रवासी मजदूर बताते हैं कि पिछले साल वे लॉकडाउन में यहां फंस गए थे और अब दुबारा वैसे हालात का सामना नहीं करना चाहते। निश्चित रूप से ये घटना बीते साल मार्च के अंत में पैदा हुए हालातों की याद ताजा करती है। 

देश से और ख़बरें

मुंबई में भी रफ़्तार तेज़

मुंबई में भी कोरोना संक्रमण की रफ़्तार बेहद तेज़ है और बीते 24 घंटों में 8,938 नए मामले सामने आए हैं और 23 लोगों की मौत हुई है। मुंबई में अब तक 11,874 लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है। दिल्ली की ही तरह मुंबई से भी मजदूर अपने घरों की ओर लौट रहे हैं। मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस और छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस पर बड़ी संख्या में मजदूरों का तांता लगा हुआ है और वे किसी भी सूरत में अपने घर पहुंचना चाहते हैं। सेंट्रल रेलवे के एक अफ़सर ने ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ से कहा कि उत्तर प्रदेश और बिहार जाने वाली ट्रेनें अगले कुछ दिनों के लिए पूरी तरह बुक हो चुकी हैं। 

मुंबई में 26 कोरोना टीकाकरण केंद्र बंद

महाराष्ट्र सरकार ने गुरूवार को कहा है कि मुंबई में 26 टीकाकरण केंद्र बंद करने पड़े हैं। इसमें से 23 केंद्र नवी मुंबई क्षेत्र में हैं। सरकार ने कहा है कि राज्य सरकार केंद्र से कोरोना के टीके की खेप का इंतज़ार कर रही है। इससे पहले महाराष्ट्र के पुणे, सतारा और पनवेल क्षेत्र में कोरोना वैक्सीन कम पड़ने की वजह से टीकाकरण केंद्रों को बंद किए जाने की रिपोर्टें आई हैं।

देश से और ख़बरें

फिर से बन रहे हैं चुनौतीपूर्ण हालात: मोदी 

कोरोना संक्रमण के तेज़ी से बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को कहा है कि एक बार फिर से चुनौतीपूर्ण हालात बन रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्रियों से बातीचत करते हुए कहा कि हमारा फ़ोकस माइक्रो कंटेनमेंट ज़ोन पर होना चाहिए और हमें नाइट कर्फ्यू को सफल बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्यों को टेस्टिंग पर जोर देना चाहिए। 

मोदी ने कहा, “पहले की अपेक्षा हमारे पास अनुभव है, संसाधन है और वैक्सीन भी हैं। हमारे डॉक्टर्स और बाक़ी लोगों ने हालात को संभाला है। पिछले साल हमारे पास टेस्टिंग लैब नहीं थी, मास्क का पता नहीं था, पीपीई किट नहीं थी और उस वक़्त बचने का एकमात्र साधन बचा था, वो था लॉकडाउन।” 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें