loader

कोरोना : विधानसभा चुनावों के चार चरण बीतने के बाद सख़्त चुनाव आयोग

पाँच राज्यों में विधानसभा चुनावों के तीन चरण का मतदान पूर हो जाने और उसमें तमाम राजनीतिक दलों के नेताओं की ओर से कोरोना दिशा निर्देशों की खुलेआम धज्जियाँ उड़ाने के बाद चुनाव आयोग ने सख़्ती बरती है। आयोग ने शनिवार को कहा है कि सोशल डिस्टैंसिंग और मास्क लगाने के दिशा निर्देशों का उल्लंघन किया गया है, स्टार प्रचारकों, बड़े नेताओं और उम्मीदवारों ने मास्क नहीं लगाया और दूसरे दिशा निर्देश नहीं माने, ये बातें चुनाव आयोग की जानकारी में आई हैं।

आयोग ने यह भी कहा है कि ऐसा करके ये दल और नेता देश को और खुद को ख़तरनाक स्थिति की ओर ले जा रहे हैं। 

चुनाव आयोग ने सख़्ती बरतने का संकेत देते हुए कहा है कि भविष्य में ऐसा होने पर चुनाव आयोग बग़ैर किसी पूर्व नोटिस के इस तरह के प्रचार कार्य, सभा वगैरह पर रोक लगा सकता है।

बगैर मास्क के अमित शाह

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, पश्चिम बंगाल की मु्ख्यमंत्री ममता बनर्जी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई नेताओं ने बड़ी-बड़ी सभाएं की हैं, और रोड शो किए हैं, जिनमें हज़ारों की तादाद में लोगों ने भाग लिया है। 

इतना ही नहीं, उन सभाओं में मौजूद लोगों या इन नेताओं ने मास्क तक नहीं लगाया था। दूसरी ओर मतदान करने जा रहे लोगों से कहा गया कि वे मास्क लगा कर ही वोट डालने जाएं और कई जगहों पर मास्क नहीं लगाने की वजह से केंद्रीय सुरक्षा बलों के लोगों ने मतदाताओं को पोलिंग बूथ पर नहीं जाने दिया है। 

election commission strict on corona guidelines after 4 phases of assembly elections - Satya Hindi
बगैर मास्क रोड शो करते हुए अमित शाह

चुनाव आयोग ने यह बात तब कही है कि तमिलनाडु, असम, पुडुचेरी और केरल के चुनाव हो गए और पश्चिम बंगाल में भी तीन चरणों का मतदान पूरा हो गया। जिस दिन चुनाव आयोग ने यह कहा है कि उस दिन पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के चौथे चरण का मतदान हो रहा है। वहां आठ चरणों में मतदान होना है। 

बता दें कि देश में चुनाव और उस दौरान कोरोना दिशा निर्देशों की धज्जियाँ तब उड़ाई जब कोरोना संक्रण एक बार फिर तेजी से फैल रहा है और दूसरी लहर चल रही है जो पहली लहर से अधिक तेज है।

बढ़ रहा है संक्रमण

जिस समय चुनाव ने सख़्ती के संकेत दिए उस दिन कोरोना संक्रमण के 1,45,384 नए मामले सामने आए, 794 लोगों की मौत हुई। बीते दिन संक्रमण के 1,31,968 मामले आए थे और 780 लोगों की मौत हुई थी। चिंताजनक तसवीर यह है कि दूसरी लहर में संक्रमण के मामले बढ़ने के साथ ही मौतों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। साथ ही एक्टिव मामलों की संख्या 10 लाख से ज़्यादा हो चुकी है। 

भारत में अब तक कुल 1,32,05,0926 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं जबकि 1,68,436 लोगों की मौत हो चुकी है। 

देश भर के संक्रमण के कुल मामलों के 83 फ़ीसदी मामले दस राज्यों से सामने आए हैं। इनमें महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान शामिल हैं। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें