loader
फ़ोटो साभार: ट्विटर/@I_inamullahumar/वीडियो ग्रैब

सेना के हेलिकॉप्टर क्रैश के बाद पूरा देश आहत, मांग रहा दुआएँ

सेना के हेलिकॉप्टर के हादसे के बाद पूरा देश आहत है। लोग उस हेलिकॉप्टर में सवार चीफ़ ऑफ़ डिफ़ेंस स्टाफ़ (सीडीएस) बिपिन रावत, उनकी पत्नी सहित दूसरे अफ़सरों की सुरक्षा के लिए दुआएँ मांग रहे हैं।

हादसा तमिलनाडु के कुन्नूर में हुआ। जिस हेलिकॉप्टर में वे सवार थे वह डबल इंजन वाला था और इसे सबसे सुरक्षित माना जाता है। ख़बर है कि कैबिनेट की बैठक के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित बाक़ी मंत्रियों को जानकारी दी है। 

ताज़ा ख़बरें

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर लोग हेलिकॉप्टर हादसे पर दुख जता रहे हैं और इसमें सवार लोगों के लिए दुआएँ मांग रहे हैं। 

नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट किया, 'सीडीएस जनरल श्री बिपिन रावत जी और सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को ले जा रहे सेना के एक हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने की ख़बर सुनकर व्यथित हूँ। उनकी सुरक्षा और सलामती के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।'

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया, 'हेलिकॉप्टर में सवार सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और अन्य लोगों के सुरक्षित होने की उम्मीद है। शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना।'

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट किया, 'सीडीएस श्री बिपिन रावत जी के साथ हेलिकॉप्टर की दुखद दुर्घटना के बारे में सुनकर स्तब्ध हूँ। मैं सभी की सुरक्षा के लिए प्रार्थना करता हूँ।'

सपा नेता अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, 'कुन्नूर में सेना के हैलिकॉप्टर के हादसे की ख़बर देश के लिए बेहद चिंतनीय एवं दुखद है। सभी के सुरक्षित जीवन के लिए हृदय से प्रार्थना।'
कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा है कि घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है और वह उनकी सुरक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना करते हैं।

बता दें कि विमान में सीडीएस बिपिन रावत के अलावा उनकी पत्नी मधुलिका रावत, कर्नल हरजिंदर सिंह, बिग्रेडियर एलएस लिड्डर, पीएसओ गुरसेवक सिंह, जितेंद्र कुमार, विवेक कुमार, बी साई तेजा और सतपाल सवार थे। 

हादसे के बाद हेलिकॉप्टर के मलबे में से लोगों को निकाला गया।

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

देश से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें