loader
फ़ाइल फ़ोटोे

शाहरूख ख़ान को निशाना बनाया गया: ममता बनर्जी

क्रूज ड्रग्स मामले में शाहरूख ख़ान के बेटे आर्यन ख़ान के ख़िलाफ़ की गई कार्रवाई का पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खुलकर विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि शाहरूख ख़ान को निशाना बनाया जा रहा है। दो दिनों की यात्रा पर मुंबई पहुंचीं ममता ने इसी को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा। इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी को क्रूर और अलोकतांत्रिक पार्टी क़रार दिया। 

शाहरूख ख़ान के पक्ष में ममता बनर्जी का यह बयान उस कार्यक्रम में आया है जिसमें राजनीतिक नेता, सामाजिक कार्यकर्ता, उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश और मशहूर हस्तियाँ शामिल थीं। 

ताज़ा ख़बरें

तृणमूल प्रमुख का यह बयान तब आया है जब 28 अक्टूबर को आर्यन को अदालत ने जमानत दी थी। उसने अपने जमानत वाले आदेश में कहा है कि आरोपियों- आर्यन ख़ान, अरबाज मर्चेंट, मुनमुन धमेचा के बीच साज़िश दिखाने वाले क़रीब-क़रीब कोई भी सकारात्मक सबूत नहीं हैं।

एनसीबी द्वारा एक क्रूज पर छापेमारी के बाद आर्यन को 2 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था। आर्यन ख़ान 3 हफ़्ते से ज़्यादा समय तक जेल में रहे थे। एनसीबी ने उनके ख़िलाफ़ साज़िश रचने के आरोप लगाए थे। इस पर बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा था कि सिर्फ़ इसलिए कि आर्यन ख़ान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा एक ही क्रूज में यात्रा कर रहे थे, यह उनके ख़िलाफ़ साज़िश के आरोप का आधार नहीं हो सकता।

हाई कोर्ट के इस फ़ैसले से पहले आर्यन ख़ान को जिन वजहों का हवाला देते हुए एनसीबी ने गिरफ़्तार किया था और ज़मानत का विरोध किया था उसकी आलोचना की जा रही थी। 

सोशल मीडिया पर सवाल उठाए जा रहे थे कि क्या यह शाहरूख ख़ान को परेशान करने के लिए किया जा रहा है। बाद में यह रिपोर्ट आई कि कथित तौर पर पैसे की अवैध वसूली के लिए शाहरूख ख़ान के बेटे आर्यन को ड्रग्स केस में फंसाया गया।

इसी मामले में अब तृणमूण प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा है कि शाहरूख ख़ान को यह परेशान करने के लिए किया गया। उन्होंने कहा, 'महेश जी (फिल्म निर्देशक महेश भट्ट), आप पीड़ित हैं, शाहरुख खान भी शिकार हुए हैं। अगर हमें जीतना है, तो हमें जहां भी हो, हमें लड़ना होगा और बोलना होगा। राजनीतिक पार्टी के तौर पर हमारा, आप मागदर्शन कीजिए और सलाह दीजिए।'

महाराष्ट्र से और ख़बरें

बंगाल के प्रतिष्ठित कवि रवींद्रनाथ टैगोर और मराठा राजा शिवाजी पर उनकी कविता का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बंगाल और महाराष्ट्र के बीच पहले से ही एक पुल है।

इसी के साथ उन्होंने बीजेपी की आलोचना की। उन्होंने कहा, 'भारत को बाहुबल से नहीं, जनशक्ति से प्यार है। हम एक क्रूर अलोकतांत्रिक पार्टी भाजपा का सामना कर रहे हैं। अगर हम एक साथ हैं, तो हम जीतेंगे।'

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

महाराष्ट्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें