loader

दिल्ली नगर निगम चुनाव 2022 0 / 250

BJP
0
AAP
0
CONG
0
OTH
0

ममता बनर्जी ने कोलकाता में व्हील चेयर पर की पदयात्रा की अगुआई

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को कोलकाता के मेयो रोड से हाज़रा इलाक़े तक की पदयात्रा की अगुआई व्हील चेयर पर बैठ कर की। इस पदयात्रा में सैकड़ों लोगों ने शिरकत की। नंदीग्राम में ज़ख़्मी होने के बाद वे पहली बार किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में मौजूद थीं। हालांकि उनके पैर पर प्लास्टर अभी भी चढ़ा हुआ है और डॉक्टरों ने आराम करने की सलाह दी है, पर ममता बनर्जी ने न चल पाने की स्थिति में भी पदयात्रा की अगुआई करने का फ़ैसला किया। 

मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया, "हम निर्भीक होकर लड़ते रहेंगे! मुझे अभी भी बहुत दर्द हो रहा है, लेकिन मुझे अपने लोगों का दर्द और भी अधिक महसूस होता है। अपनी श्रद्धेय भूमि की रक्षा करने के लिए इस लड़ाई में हमें बहुत नुकसान हुआ है और हम और भी अधिक झेलना पड़ेगा, लेकिन हम लोग झुकेंगे नहीं।"

'पैर में सूजन अभी भी है'

ममता बनर्जी का इलाज कर रहे एसएसकेएम अस्पताल के डॉक्टरों ने शनिवार को पत्रकारों से कहा था कि उनके स्वास्थ्य में काफी सुधार हुआ है और वह ‘‘काफी बेहतर'' हैं। उन्होंने कहा था कि उनके बाएं पैर में आयी सूजन भी कम हो गई है।  ममता बनर्जी के बाएं पैर के साथ-साथ दाहिने कंधे, गर्दन पर गंभीर चोटें आईं थी। डॉक्टरों ने शुक्रवार शाम को बनर्जी को छुट्टी दे दी, क्योंकि उन्होंने अपनी ‘‘स्थिति में सुधार'' के बाद इसके लिए बार-बार अनुरोध किया गया था। 

याद दिला दें कि बुधवार को नंदीग्राम से चुनावी पर्चा भरने के बाद, वह कार के फुटबॉर्ड पर खड़ी होकर मार्केट में लोंगो का अभिनंदन कर रही थीं, उसी समय भीड़ से किसी ने उन्हें धक्का दिया, जिससे उनके पैर में चोट पहुँची। उन्हें नंदीग्राम से कोलकाता लाया गया, जहाँ एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

ममता पर शुभेंदु का तंज

दूसरी ओर, नंदीग्राम से बीजेपी उम्मीदवार और कुछ समय पहले तक मुख्यमंत्री के नज़दीक रह चुके शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी पर ज़ोरदार हमला किया है। उन्होंने तंज करते हुए कहा है कि जिन लोगों ने नंदीग्राम को पूरी तरह भुला दिया था वे चुनाव के समय उससे वोट माँगने आए हैं। 

इसी तरह शुभेंदु अधिकारी ने ममता बनर्जी पर हमला करते हुए कहा कि जिन लोगों नंदीग्राम में लोगों पर फ़ायरिंग कराने वाले अफ़सरों को पदोन्नति दी, उन्हें वहाँ के लोगों से वोट माँगने का कोई हक़ नहीं है। 

शहीदों के प्रति सम्मान

लेकिन ममता बनर्जी ने रविवार को ही ट्वीट कर कहा कि नंदीग्राम आन्दोलन में शहीद हुए लोगों के प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए वे वहाँ से चुनाव लड़ रही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि शहीद हुए लोगों के परिवार वालों के साथ मिल कर काम करना उनके लिए गौरव की बात है। 

.

बीजेपी पर टीएमसी का आरोप

ममता बनर्जी और उनकी पार्टी टीएमसी ने बीजेपी पर आरोप लगाया था कि ममता पर यह हमला जानबूझकर किया गया। ममता ने घटना के बाद कहा था कि उनके बाएं पैर पर किसी ने गाड़ी चढ़ा दी और इससे उनके पैर में सूजन आ गई है। उन्होंने कहा था कि घटना के दौरान उनके आसपास स्थानीय पुलिस का कोई अफ़सर या कर्मचारी नहीं था, वहां बहुत भीड़ थी और चार-पांच लोगों ने इस घटना को साज़िशन अंजाम दिया है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

पश्चिम बंगाल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें