loader

पश्चिम बंगाल चुनाव : रैली, पद यात्रा, रोड शो पर रोक

कलकत्ता हाई कोर्ट से फटकार सुनने के चंद घंटों के अंदर चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाकी बचे दो चरणों के लिए रैली, पद यात्रा और रोड शो पर रोक लगा दी है। सिर्फ ऐसी जनसभाओं की अनुमति दी गई है, जिनमें 500 से कम लोग मौजूद हों। ऐसा बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनज़र किया गया है। 

आयोग ने कहा कि उसे इस बात पर दुख और गुस्सा है कि अभी भी कुछ राजनीतिक दल और राजनेता कोरोना दिशा निर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं। इस वजह से उसे यह कदम उठाना पड़ रहा है।

इसके पहले गुरुवार को ही कलकत्ता हाई कोर्ट ने चुनाव आयोग को फटकार लगाते हुए कहा था कि वह सिर्फ दिशा-निर्देश जारी कर चुप बैठ गया, उसने उसे लागू कराने के लिए कुछ नहीं किया। इसके बाद ही चुनाव आयोग हरकत में आया और शाम होते होते प्रचार पर ही रोक लगा दी। 

election commission bans campaigning in west bengal assembly election 2021 - Satya Hindi

मामला क्या है?

अदालत ने चुनाव के दौरान हो रहे कोरोना दिशा निर्देशों के उल्लंघन से जुड़ी याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए चुनाव आयोग पर कड़ी टिप्पणी की थी। कोर्ट का मानना था कि अधिकार होने के बावजूद चुनाव आयोग इस मामले में पर्याप्‍त कदम नहीं उठा रहा है।

याचिकाओं में कहा गया था कि चुनावी रैलियाँ कोरोना संक्रमण के लिए 'सुपर स्‍प्रेडर इवेंट' बन सकती हैं। 

ख़ास ख़बरें

क्या कहा अदालत ने?

अदालत ने कहा कि आयोग सिर्फ सर्कुलर जारी कर रहा है, सब कुछ जनता पर छोड़ देता है। लेकिन आयोग को आदेश का अनुपालन कराने का अधिकार है। अदालत ने कहा कि पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त टी. एन. शेषन ने जो किया था, अब आयोग उसका 10 फ़ीसदी भी नहीं कर रहा है।

बता दें कि टी. एन. शेषन ने चुनाव आयोग की आचार संहिता का सख्ती से पालन कराया था और 1990 के दशक में चुनाव सुधारों को लागू कराया था। 

मोदी की बंगाल यात्रा रद्द

यह भी कम दिलचस्प बात नहीं है कि चुनाव आयोग की घोषणा के पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल जाकर चुनाव प्रचार व बड़ी रैलियों का अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया। उन्होंने ट्विटर पर खुद इसका एलान करते हुए कहा कि वह शुक्रवार को कोरोना से जुड़े मुद्दे पर दिल्ली में रह कर ही बैठक में शिरकत करेंगे। 

नरेंद्र मोदी की बंगाल यात्रा रद्द किए जाने के बाद बीजेपी के तमाम वरिष्ठ नेताओं की पश्चिम बंगाल की रैलियाँ भी रद्द कर दी गईं। मोदी के अलावा गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की रैलियाँ तय थीं। 

लेकिन इसके पहले गुरुवार को अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में दो रैलियाँ की और उसमें बड़ी भीड़ के बीच लोगों को संबोधित किया। 

बीजेपी ने कहा है कि अब अधिकतम 500 लोगों की मौजूदगी वाली सभाएं होंगी। उसने यह भी कहा है कि केवल ज़िला स्तर पर संपर्क के लिए स्थानीय नेता जनसभा करेंगे। 

प्रधानमंत्री ने चुनाव प्रचार के लिए अपने पश्चिम बंगाल दौरे को पहली बार रद्द किया है। इसके कुछ दिन पहले ही पश्चिम बंगाल में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने बहुत ही गर्व से कहा था कि इतनी बड़ी भीड़ उन्होंने पहले कभी नहीं देखी थी। कोरोना दिशा निर्देश इसके पहले भी थे, पर उसकी परवाह किसी को नहीं थी। 
सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

पश्चिम बंगाल से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें