loader

कोरोना प्रभावित उद्योगों के लिए 1.1 लाख करोड़ की क़र्ज़ गारंटी स्कीम

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना से प्रभावित सेक्टरों के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपए की क़र्ज़ गारंटी स्कीम का एलान किया है। इसके तहत वे उद्योग जो कोरोना से प्रभावित हुए हैं, बैंकों या दूसरे वित्तीय संस्थाओं से कर्ज लेगें तो केंद्र सरकार उसकी गारंटी देगी। 

इसके अलावा 'आत्मनिर्भर भारत' कार्यक्रम के तहत आपातकाल स्थितियों में उद्योगों को क़र्ज़ लेने पर भी केंद्र सरकार उसकी गारंटी देगी। इस योजना के तहत 1.5 लाख करोड़ रुपए का इंतजाम किया गया है। 

ख़ास ख़बरें

क़र्ज़ गारंटी स्कीम के तहत स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 50,000 करोड़ और दूसरे क्षेत्रों के लिए 60,000 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है। 

स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए जो पैसे रखे गए हैं, उसके तहत अधिकतम  100 करोड़ रुपए का क़र्ज़ लिया जा सकेगा। इस स्कीम के तहत ब्याज की अधिकतम दर 7.95 प्रतिशत है। 

nirmala sitharaman announces loan guarantee scheme for corona hit industries - Satya Hindi

दूसरे सेक्टरों के लिए दिए गए क़र्ज़ पर अधिकतम ब्याज दर 8.25% रखा गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इसके अलावा 25 लाख लोगों को माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशंस के जरिए क़र्ज़ देने का फ़ैसला किया है। ये छोटे क़र्ज़ होगे और छोटे कारोबारियों को इसका फ़ायदा मिलेगा।

ख़ास ख़बरें

इमरजेंसी क्रेडिट लाइन

केंद्र सरकार ने इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम के तहत अतिरिक्त 1.5 लाख करोड़ के क़र्ज जारी करने का एलान किया है। 

यह योजना पहले मई, 2020 में आत्मनिर्भर पैकेज के तहत लाई गई थी।

आत्मनिर्भर भारत रोज़गार योजना की आख़िरी तारीख 30 जून, 2021 थी, जिसे बढ़ा कर 31 मार्च, 2022 कर दिया गया है।

कोरोना का सबसे बुरा असर पर्यटन उद्योग पर पड़ा है। इस क्षेत्र के लिए बड़ी योजना की घोषणा की गई है। इसके तहत 11,000 से ज्यादा रजिस्टर्ड टूरिस्ट गाइड्स, ट्रैवल और टूरिज्म के स्टेकहोल्डर्ड को वित्तीय सहायता मिलेगी।
इसके तहत मान्यता प्राप्त गाइड्स को 1 लाख रुपए तक और मान्यता प्राप्त ट्रैवल और टूरिज्म के स्टेकहोल्डर्स को 10 लाख रुपए तक का 100 फ़ीसदी गारंटीड लोन मिलेगा।
nirmala sitharaman announces loan guarantee scheme for corona hit industries - Satya Hindi
विदेशी पर्यटकों को जब वीज़ा मिलना शुरू हो जाएगा, उसके बाद भारत आने वाले पहले पाँच लाख पर्यटकों को टूरिस्ट वीज़ा मुफ़्त में दिया जाएगा। यह योजना पहले पाँच लाख पर्यटकों तक सीमित रहेगी या फिर 31 मार्च, 2021 तक लागू रहेगी, इनमें से जो भी पहले हो।

मुफ़्त अनाज 

निर्मला सीतारमण ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना के तहत एनएफ़एसए के लाभार्थियों को नवंबर, 2021 तक 5 किलो मुफ्त अनाज दिया जाता रहेगा।

इस योजना के तहत नवंबर 2021 तक मुफ्त अनाज दिए जाने की योजना पर केंद्र सरकार पर 93,869 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

केंद्र सरकार ने पिछले साल भी कोरोना लॉकडाउन की वजह से ग़रीबों को मुफ्त खाद्यान्न उपलब्ध कराया था। इस योजना पर कुल मिला कर 2.27 लाख करोड़ रुपये का खर्च होगा।

उवर्रक सब्सिडी

इसके अलावा वित्त मंत्री ने 85,413 करोड़ रुपये के बजट आवंटन के ऊपर 14,775 करोड़ रुपये की अतिरिक्त उर्वरक सब्सिडी देने का एलान भी किया। 

नॉर्थ ईस्टर्न रीजनल एग्रीकल्चरल मार्केटिंग कॉर्पोरेशन के वित्तीय पुनर्गठन  के लिए 77.45 करोड़ के पैकेज का भी एलान किया गया है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

अर्थतंत्र से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें