loader
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बीजेपी विधायक गणेश जोशी।

‘मोदी आरती’ के विमोचन के बाद बीजेपी विधायक बोले - मंदिर बनवाऊंगा, चापलूसी की हद : कांग्रेस

उत्तराखंड के बीजेपी विधायक गणेश जोशी इन दिनों चर्चा में हैं। चर्चा में इसलिए, क्योंकि कुछ दिन पहले उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में लिखी गई ‘मोदी आरती’ का विमोचन किया है। ‘मोदी आरती’ का विमोचन कोरोना वॉरियर्स के सम्मान में आयोजित एक कार्यक्रम में रविवार को मसूरी में किया गया। इस कार्यक्रम में राज्य सरकार में मंत्री धन सिंह रावत भी मौजूद थे। 

ताज़ा ख़बरें
इस आरती को ‘हनुमान आरती’ की तर्ज पर बनाया गया है। इसमें इस बात के लिए प्रधानमंत्री की तारीफ़ की गई है कि उन्होंने कोरोना वायरस के दौरान बने हालात को बहुत अच्छे ढंग से संभाला है। ये बात अलग है कि 21 दिनों में कोरोना की लड़ाई जीतने की बात कहने वाले प्रधानमंत्री चार बार लॉकडाउन बढ़ा चुके हैं। लॉकडाउन को 60 से ज़्यादा दिन हो चुके हैं लेकिन संक्रमण के मामले बेतहाशा बढ़ रहे हैं। 
आरती में पीएम मोदी की यह कहकर प्रशंसा की गई है कि उन्होंने मुसीबत की इस घड़ी में अमेरिका की भी सहायता की है। आरती में भगवान राम का मंदिर बनाने से लेकर कश्मीर से धारा 370 हटाने तक का जिक्र किया गया है। ‘मोदी आरती’ को डॉ. रेणु पंत ने लिखा है।
उत्तराखंड की मसूरी सीट से विधायक गणेश जोशी ने कहा है कि लॉकडाउन के ख़त्म होने के बाद वह मोदी जी का मंदिर भी बनवाएंगे। उन्होंने कहा कि लोगों ने फ़िल्म स्टार रजनीकांत और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के भी मंदिर बनाए हैं, ऐसे में उनके द्वारा मंदिर बनाने में कुछ भी ग़लत नहीं है।
Uttarakhand BJP MLA Ganesh Joshi said will build temple of Narendra modi - Satya Hindi
मोदी आरती।

सच्ची श्रद्धा रखता हूं: विधायक

विधायक ने अंग्रेजी अख़बार ‘टाइम्स ऑफ़ इंडिया’ से कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री की फ़ोटो अपने मंदिर और कार्यालय में तब से रखी है, जब वह 1990 में पार्टी के महासचिव हुआ करते थे।’ विधायक ने कहा है कि मोदी जी भारत के ही नहीं विश्व के भी नेता हैं और वह उनका बहुत आदर करते हैं। विधायक ने कहा कि वह प्रधानमंत्री के प्रति सच्ची श्रद्धा रखते हैं। 

उत्तराखंड से और ख़बरें

हिंदुओं की भावनाओं से खिलवाड़: कांग्रेस

उत्तराखंड कांग्रेस ने इसे चापलूसी की हद बताया है। कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने कहा, ‘किसी इंसान की देवी-देवताओं से तुलना कैसे की जा सकती है। ऐसा करना बीजेपी के लोगों द्वारा चापलूसी की हद है और ये लोग ताक़त के लालच में अपने आकाओं को ख़ुश करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं।’ उत्तराखंड कांग्रेस ने इसके विरोध में धरना दिया और कहा है कि मोदी आरती को लांच करके बीजेपी ने करोड़ों हिंदुओं की भावनाओं से खिलवाड़ किया है। 

सत्य हिन्दी ऐप डाउनलोड करें

'सत्य हिन्दी'
की ताक़त बनिए


गोदी मीडिया और विशाल कारपोरेट मीडिया के मुक़ाबले स्वतंत्र पत्रकारिता का साथ दीजिए और उसकी ताक़त बनिए। 'सत्य हिन्दी' की सदस्यता योजना में आपका आर्थिक योगदान ऐसे नाज़ुक समय में स्वतंत्र पत्रकारिता को बहुत मज़बूती देगा। याद रखिए, लोकतंत्र तभी बचेगा, जब सच बचेगा।

नीचे दी गयी विभिन्न सदस्यता योजनाओं में से अपना चुनाव कीजिए। सभी प्रकार की सदस्यता की अवधि एक वर्ष है। सदस्यता का चुनाव करने से पहले कृपया नीचे दिये गये सदस्यता योजना के विवरण और Membership Rules & NormsCancellation & Refund Policy को ध्यान से पढ़ें। आपका भुगतान प्राप्त होने की GST Invoice और सदस्यता-पत्र हम आपको ईमेल से ही भेजेंगे। कृपया अपना नाम व ईमेल सही तरीक़े से लिखें।
सत्य अनुयायी के रूप में आप पाएंगे:
  1. सदस्यता-पत्र
  2. विशेष न्यूज़लेटर: 'सत्य हिन्दी' की चुनिंदा विशेष कवरेज की जानकारी आपको पहले से मिल जायगी। आपकी ईमेल पर समय-समय पर आपको हमारा विशेष न्यूज़लेटर भेजा जायगा, जिसमें 'सत्य हिन्दी' की विशेष कवरेज की जानकारी आपको दी जायेगी, ताकि हमारी कोई ख़ास पेशकश आपसे छूट न जाय।
  3. 'सत्य हिन्दी' के 3 webinars में भाग लेने का मुफ़्त निमंत्रण। सदस्यता तिथि से 90 दिनों के भीतर आप अपनी पसन्द के किसी 3 webinar में भाग लेने के लिए प्राथमिकता से अपना स्थान आरक्षित करा सकेंगे। 'सत्य हिन्दी' सदस्यों को आवंटन के बाद रिक्त बच गये स्थानों के लिए सामान्य पंजीकरण खोला जायगा। *कृपया ध्यान रखें कि वेबिनार के स्थान सीमित हैं और पंजीकरण के बाद यदि किसी कारण से आप वेबिनार में भाग नहीं ले पाये, तो हम उसके एवज़ में आपको अतिरिक्त अवसर नहीं दे पायेंगे।

अपनी राय बतायें

उत्तराखंड से और खबरें

ताज़ा ख़बरें

सर्वाधिक पढ़ी गयी खबरें